पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लाइफ एंड मैनेजमेंट:लाइफ एंड मैनेजमेंट की इस हफ्ते की स्टोरीज सिर्फ एक क्लिक पर पढ़िए ...

13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भारत के नए डिजिटल कानून के खिलाफ आवाज उठाने वाली आईटी कंपनियों की कमी नहीं है, ऐसे में इस कानून का समर्थन करने के कारण चर्चा में हैं गूगल प्रमुख सुंदर पिचाई। स्कूलों में नया सेशन शुरू हो रहा है, ऐसे में कुछ अलग सोचने को मजबूर करती पिचाई की ये चार साल पुरानी स्पीच...

इंस्पायरिंग : किताबों से बाहर, असली दुनिया के अनुभव ज्यादा जरूरी - सुंदर पिचाई

रबीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविख्यात कवि, साहित्यकार, दार्शनिक और भारतीय साहित्य के नोबेल पुरस्कार विजेता थे। उन्हें गुरुदेव के नाम से भी जाना जाता है। बांग्ला साहित्य के माध्यम से भारतीय सांस्कृतिक चेतना में नई जान फूंकने वाले युगदृष्टा थे। पढ़िये उनकी कही कुछ बातें...

लेसन्स फ्रॉम ग्रेट थिंकर्स : जीवन सेवा है और सेवा में ही आनंद है - रबीन्द्रनाथ टैगोर

कई बार सहकर्मी आपकी और उसके बीच की बात सीधे मैनेजर को बता देता है। ऐसा करके वो ना केवल आपको उस बातचीत से अलग करता है, बल्कि बॉस के सामने आपकी छवि भी खराब करता है। दफ्तर में टकराव की स्थिति बने, उससे पहले ही कोशिश करें कि सकारात्मक संवाद से बीच का रास्ता निकल आए...

टिप्स : सिर्फ तथ्यों को देखें, संबंध जल्द सुधारें, छोटी बातों को नज़रअंदाज करें

किताबों हर कदम पर आपकी मदद करती हैं, फिर जीवन में मिली सफलता की बात हो या किसी बड़ी जिम्मेदारी के अचानक आ जाने की। चार किताबों से निकली ऐसी ही चार ज्ञान की बातें...

सेल्फ हेल्प फ्रॉम बुक्स : सफलता के लिए श्रेय लेने के साथ जिम्मेदारी भी लें

खबरें और भी हैं...