सेल्फ हेल्प:सफल लोग नापसंद कार्य भी खुशी से करते हैं

6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • किताबों से जानिए क्यों जरूरी है नापसंद काम को भी हां बोलना। नजरें मिलाकर बात करने से आप ईमानदार और सच्चे साबित होते हैं। यह भी जानिए कि क्यों कुछ सार्थक करना शुरू करने के लिए सही समय का इंतजार जरूरी नहीं है...

नापसंद कार्य भी प्रसन्न मन से इसलिए करें

बहुत से लोगों को जब कोई नापसंद कार्य करना पड़ता है, तो वो पीछे हट जाते हैं, अपना रास्ता बदल लेते हैं, चाहे वो काम सफलता के द्वार पर ले जाने वाला ही क्यों न हो। लेकिन सफल लोग ऐसा कार्यबिना हिचकिचाहट, प्रसन्न मन से बार-बार करते हैं। उनका एक ही लक्ष्य होता है- सफलता प्राप्त करना। (जीतना है तो जिद करो)

क्या गलत है बनाम कौन गलत है
सकारात्मक सोच के सबूत के रूप में यह भी है कि क्या गलतहै और कौन गलत है के अंतर पर ध्यान दें। अगर आप हमेशा यह खोजेंगे कि कौन गलत है तो आप हमेशा दोष देने के लिए किसी को खोजेंगे। जब किसी को दोष देने की खोज में आप लगे रहेंगे तो सभी इस बात को समझ जाएंगे और किनारे हो जाएंगे। वो इंतजार करेंगे कि किस पर तलवार गिरेगी। (पावर ऑफ पॉजिटिव एटिट्यूड)

इंतजार न करें, समय कभी सही नहीं होगा
अधिकांश लोग असफल इसलिए रहते हैं कि वो कुछ सार्थक करना शुरू करने के लिए सही समय का इंतजार करते हैं। इंतजार न करें। समय कभी सही नहीं होगा। आप जहां खड़े हैं वहीं से शुरू करें और आपके पास आपके अधिकार में जो उपकरण हैं उन्हीं के साथ काम करें। जैसे-जैसे आगे बढ़ेंगे बेहतर उपकरण मिल जाएंगे। (थिंक एंड ग्रो रिच)

नजरें मिलाकर बात करने से बढ़ेगा भरोसा
नजरें मिलाकर बात करने से सामने वाले को ये संदेश जाता है कि आप ईमानदार और सच्चे हैं। आप जो कह रहे हैं उस बात में पूरी तरह यकीन करते हैं। आप डरे हुए नहीं हैं, आत्मविश्वास से भरे हुए हैं। हमेशा दूसरों की आंखों में आंखें डालकर बात करें। इससे न सिर्फ आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा बल्कि सामने वाला भी आर पर भरोसा करेगा। (लाउडर दैन वर्ड्स)

खबरें और भी हैं...