पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बदलाव:मेहमानों के लिए बदल गईं रवायतें...

कीर्ति कृष्णमूर्तिएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जीवन अब पटरी पर लौटने लगा है। एक-दूसरे से मिलना, रिश्तेदारों के घर जाना अब शुरू होने लगा है। यूं तो अभी जाना सुरक्षित नहीं है, लेकिन यदि जाना ज़रूरी है तो कुछ बातों का ख़्याल रखकर जाएं।
  • ऐसा इसलिए, ताकि सामने वाले को दिक़्क़त न हो और आप भी अच्छे मेहमान साबित हों।
  • इसके लिए हम कुछ सुझाव दे रहे हैं, जो आपके काम के साबित हो सकते हैं।

पूर्व सूचना दें यदि किसी के घर जा रहे हैं या अन्य शहर में किसी रिश्तेदार के घर भी जा रहे हैं तो पहले से उन्हें बता दें कि आप कब पहुंचेंगे। इससे वे आपके आने पर ज़रूरी इंतज़ाम कर लेंगे। इसके अतिरिक्त, कमरे की सफ़ाई, खाने-पीने की व्यवस्था, तौलिए, चादर आदि, जो अमूमन मेहमान साथ नहीं ले जाते, उनकी व्यवस्था कर लें। इसके अलावा, पूर्व सूचना मिलने से मेज़बान मानसिक तौर पर तैयार रहेंगे।

जो संभव है, साथ ले जाएं...
मौजूदा दौर से पहले किसी अपने के घर जाते समय बहुत सारी वस्तुएं ले जाने की ज़रूरत नहीं होती थी, लेकिन बिना तैयारी के जाना इस समय के मुताबिक सही नहीं है। यदि आपको किसी के घर 2-3 दिन रुकना है तो अपना चादर, तौलिया, छोटा साबुन, मॉइश्चराइज़र, स्लीपर, कंघी आदि साथ ले जाएं। ये चीज़ें ले जाने पर आपको सहूलियत रहेगी और उन्हें भी आसानी होगी।

साफ़-सफ़ाई का ख़्याल
ये ऐसी बात है कि कोई आपसे कहेगा नहीं, इसका ख़्याल ख़ुद आपको ही रखना होगा। किसी के घर जाते ही सबसे पहले नहाएं। सफ़र में हम कितने ही लोगों से मिलते हैं, कौन साफ़ हो, कौन संक्रमित है- पता नहीं रहता। इसलिए सबसे पहले नहा लें उसके बाद बैठकर बातचीत करें। जब भी बाहर से आएं तो पहले हाथ-पैर धोएं। अपना मास्क और सैनेटाइज़र साथ रखें। अगर मेज़बान के घर में छोटा बच्चा है तो उसे दूर से ही खिलाएं। ऐसा न हो, आप उसे लेकर घूमें और सामने वाला चाहकर भी आपको टोक न पाए। इसलिए समझदारी दिखाएं।

हाथ बंटाएं
इस समय वैसे भी सभी का काम बढ़ गया है। ऐसे में काम बढ़ाने के बजाय उनके काम में हाथ बंटाएं। जैसे शाम की चाय बना दें, खाना बनाने में मदद कर दें, बाहर के छोटे-बड़े काम कर दें। इस तरह आपके रहने से उन्हें मदद भी मिलेगी और बोझ भी नहीं लगेगा। इसके अलावा सुबह उठकर अपने बिस्तर ठीक करना, चादर तह करने जैसे काम ख़ुद करें।

विदा लेते समय
जब आप वापस लौट रहे हों तो जिस कमरे में आप ठहरे थे उसे पहले जैसा ही साफ़ करके आएं। सामान को जगह पर व्यवस्थित रखें। कमरे में रखी टेबल आदि को सैनेटाइज़ कर सकें, तो और बेहतर। बाथरूम को ख़ासतौर पर साफ़ करके ही छोड़ें।

ख़र्च न बढ़ाएं
इस दौर में मेज़बान के लिए ये सबसे बड़ी समस्या होती है कि किसी के आने पर अतिरिक्त ख़र्च का बोझ पड़ेगा। इसलिए मेहमानों को चाहिए कि मीठे की मांग, कुछ बाज़ार से लेकर आने का इसरार, कहीं घूमने जाने की फरमाइश या मेज़बान के वाहन का बेजा उपयोग न करें। वाहन इस्तेमाल करना ही पड़े, तो उसमें ईंधन दोबारा भरवाएं।

निजता में दख़ल न दें
इस समय लोग वैसे ही मानसिक तौर पर काफ़ी परेशान हैं। ऐसे में आप जिस किसी के भी घर जा रहे हों, भले ही वो आपका दोस्त हो या रिश्तेदार या क़रीबी, उनकी निजी ज़िंदगी में दखल न दें। यदि वे कुछ ज़रूरी या निजी बात कर रहे हों तो वहां से उठकर चले जाएं या फोन आने का बहाना कर दें। यदि वे बच्चे को किसी बात पर डांट रहे हों या समझा रहे हों तो बीच-बचाव न करें। ये उनका अपना मामला है, इसलिए अपने काम से काम रखें।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें