15 करोड़ रुपए होगी इस कार की कीमत:थ्री-डी प्रिंटर से बनी 407 किमी प्रति घंटा रफ्तार की सुपरकार

16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कार कंपनी के- जिंगर के फाउंडर केविन जिंगर ऑटो इंडस्ट्री में बहुत बड़ा बदलाव लाने का इरादा रखते हैं। वे एक अनोखी सुपरकार के साथ पर्यावरण अनुकूल डिजिटल ऑटोमैटिक मैन्युफैक्चरिंग सिस्टम बनाना चाहते हैं।

कंपनी ने डेटा साइंस और रिसाइकल मिश्रित धातु बनाने वाले अति आधुनिक 3-डी प्रिंटरों से सुपरकार 21- सी डिजाइन की है। इसका मूल्य 15 करोड़ रुपए होगा। जिंगर की एक अन्य कंपनी डाइवर्जेंट ने पूरी प्रक्रिया विकसित की है। 21-सी कार का परफार्मेंस शानदार है। इसका हाइब्रिड एंजिन 2.99 लिटर का है। अगले दोनों पहियों पर इलेक्ट्रिक मोटर लगी हैं। 1250 हॉर्सपावर क्षमता की कार एथेनॉल से चलती है। सुपरकार की प्रति घंटा रफ्तार 407 किलोमीटर है। कंपनी लोगों को बेचने के लिए 21-सी के मॉडल में थोड़े परिवर्तन कर रही है। पिछले वर्ष सितंबर में रेसिंग ड्राइवर जोएल मिलर ने 21-सी कार में अमेरिकन सर्किट में दो मिनट 11.33 सेकंड के रिकॉर्ड समय में लैप पूरा किया था। जिंगर कार की रफ्तार को और अधिक बढ़ाना चाहते हैं। वे कहते हैं, हम दो वेरिएंट में 80 कार बनाएंगे। जिंगर के कई अनूठे वाहनों की योजना के तहत 21- सी पहली कार है। इसकी बिक्री अमेरिका और कनाडा में परंपरागत लग्जरी कार डीलरों द्वारा की जाएगी। पहली कार की डिलीवरी 2023 के अंत में होगी। जिंगर कहते हैं, चार सीटर सी-21 को अगस्त में पीबल बीच में पेश किया जाएगा। जिंगर ने 2015 में डाइवर्जेंट कंपनी की शुरुआत की थी।

2016 के ऑटो शो में उन्होंने अपनी पहली कार ब्लेड पेश की थी। यह 3-डी प्रिंटर से बनी बॉडी और चेसिस वाली पहली कार थी। जिंगर के बेटे लुकास जिंगर कहते हैं, अन्य 3-डी कंपनियों के पास सॉफ्टेवयर और असेम्बली के साधन नहीं हैं। कोई भी कंपनी 21-सी का पिछला हिस्सा नहीं बना सकती है। जिंगर के इंंजीनियर और साइंटिस्ट पहले फेरारी, पगानी, बोइंग, मित्सुबिशी और एपल जैसी कंपनियों में काम कर चुके हैं।

टमारा वारेन

© The New York Times

खबरें और भी हैं...