2022 में कैसा होगा सोशल मीडिया?:नए सर्च इंजिन, ई कॉमर्स के विकल्पों से दिग्गजों को चुनौती

16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अमेरिका सहित कई देशों में दिग्गज टेक्नोलॉजी कंपनियों के खिलाफ अविश्वास और असंतोष बढ़ा है। कई सर्वेक्षणों में यह तथ्य सामने आया है। लोग उपलब्ध होने की स्थिति में नए विकल्प के लिए तैयार हैं। यह कुछ आंत्रप्रेन्यरों के लिए संवाद का नया तरीका पेश करने का सुनहरा अवसर हो सकता है।

2022 में हम ब्लॉकचेन, नए सर्च एंजिन (नीवा) और ई कॉमर्स विकल्पों (स्पोटिफाई) के साथ सामाजिक संवाद के नए तरीके देख सकते हैं। ये विकल्प धीरे-धीरे दिग्गज कंपनियों की बुनियाद कमजोर करेंगे। नए विकल्पों की मदद करने के लिए महत्वपूर्ण कानून जल्दी आ रहे हैं। ये कानून अमेरिका की बजाय यूरोप से आएंगे। यूरोपियन यूनियन के देश छह साल पहले के जनरल डेटा प्रोटेक्शन रेगुलेशन की तरह डिजिटल मार्केट्स एक्ट और डिजिटल सेवा एक्ट को अंतिम रूप दे रहे हैं। अगर ये कानून संपूर्ण नहीं हुए तब भी इनसे दुनियाभर में टेक्नोलॉजी कंपनियों के नियमन का रास्ता खुलेगा।

अमेरिकी संसद भी कई महत्वपूर्ण टेक्नोलॉजी से संबंधित कई महत्वपूर्ण विधेयकों पर विचार कर रही है। राष्ट्रपति जो बाइडेन के प्रशासन ने संकेत दिया है कि टेक्नोलॉजी पर व्हाइट हाउस के सलाहकार टिम वू, फेडरल ट्रेड कमीशन की प्रमुख लीना खान और जस्टिस विभाग में एंटी ट्रस्ट के प्रमुख जोनाथन कांटेर की नियुक्तियों को जारी रखा जाएगा।

इतना जरूर है, रिपब्लिकन पार्टी संसद में इन नियुक्तियों में अड़ंगा लगा सकती है। बाइडेन बड़ी टेक कंपनियों के एकाधिकार पर अंकुश लगाने के लिए क्लोबाउचर विधेयक पास कराने की पूरी कोशिश करेंगे।

फिर भी, कई विश्लेषक सोचते हैं कि टेक्नोलॉजी दिग्गजों के साम्राज्य को प्रभावित करने वाले कोई महत्वपूर्ण कानून पास नहीं हो पाएंगे। हम मेटावर्स, ब्लॉकचेन और वेब 3 को आगे बढ़ते देखेंगे।

-बड़ी टेक कंपनियों के एकाधिकार पर अंकुश लगाने के लिए अमेरिका में कानून बनाने की तैयारी -इंटरनेट की दुनिया बदलेगी। हम मेटावर्स, ब्लॉकचेन और वेब 3 को आगे बढ़ता देखेंगे।

फेसबुक वर्चुअल रियलिटी में एपल से पिछड़ेगा

-फेसबुक का नया हेडसैट आ रहा है पर एपल ऐसा अनुभव पेश करेगी जो लोगों को पसंद आएगा। वीआर उच्च कोटि के हार्डवेयर से चलता है। एपल इसमें सक्षम है।

-सॉफ्टवेयर बनेंगे जिम : इस साल वर्चुअल रियलटी की बजाय आगमेंटेड फिटनेस के शौकीनों के बीच अपनी जगह बनाएगी। 2021 का ट्रेंड आगे बढ़ता हुआ दिखेगा।

-पॉडकास्ट : एआई से प्रमुख पॉडकास्टरों को चुनौती। शफल एप ने दस पॉपुलर पॉडकास्ट होस्ट के एआई वर्जन बनाए हैं। इसमें चर्चित पॉडकास्ट ट्रांसक्रिप्ट शामिल होंगे।

कारा स्विशर
© The New York Times

खबरें और भी हैं...