ऑडियो एप के शो द गुड टाइम से पाई शोहरत:श्रीराम कृष्णन और आरती राममूर्ति की कंपनी का मूल्य 29 हजार करोड़ रु. हुआ

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीराम कृष्णन और आरती राममूर्ति - Dainik Bhaskar
श्रीराम कृष्णन और आरती राममूर्ति
  • भारतीय जोड़े के शो में सिलिकॉन वैली के दिग्गजों की भागीदारी
  • एलन मस्क, मार्क जकरबर्ग जैसी हस्तियों ने शो की लोकप्रियता बढ़ाई

सिलिकॉन वैली और एंटरटेनमेंट की दुनिया में हलचल मचाने वाली कई हस्तियां सोशल मीडिया पर एक ऑडियो एप- क्लबहाउस पर बहस करते सुनी जा सकती हैं। द गुड टाइम शो के होस्ट भारतीय दंपती-श्रीराम कृष्णन और आरती राममूर्ति की कई दिग्गजों तक आसान पहुंच है।

फरवरी में एलन मस्क केवल एक टेक्स्ट मैसेज के बाद क्लबहाउस के प्रोग्राम में आ गए थे। वे कुछ साल पहले मस्क से उनकी कंपनी स्पेस एक्स के मुख्यालय में मिले थे। एक सप्ताह बाद मार्क जकरबर्ग उनके कार्यक्रम में ऑगमेंटेड रियलिटी टेक्नोलॉजी पर चर्चा कर रहे थे। उन्होंने जकरबर्ग की सोशल मीडिया कंपनी में काम किया है।

पिछले साल दिसंबर में शुरू हुए शो के एक लाख 75 हजार सब्सक्राइबर हैं। उनके प्रशंंसकों में गायक केल्विन हैरिस और पेरिस हिल्टन जैसी जानी-मानी डिजाइनर और व्यवसायी शामिल हैं। शो पर टेक्नोलॉजी आंत्रप्रेन्योर क्रिप्टोकरेंसी, मानव-रोबोट रिश्तों जैसे विषयों पर भी चर्चा करते हैं।

सप्ताह में तीन दिन चलने वाले लाइव शो में लोगों से दोस्ताना अंदाज में चर्चा होती है। कृष्णन बताते हैं, हम व्यक्ति केंद्रित थीम पर अधिक ध्यान देते हैं। आरती राममूर्ति बताती हैं, भारत या किसी अन्य देश में करिअर शुरू करने वाले लोगों से हमें ढेरों प्रतिक्रियाएं मिलती हैं।

श्रीराम और आरती का जन्म मध्यमवर्गीय परिवारों में चेन्नई में हुआ है। कॉलेज में पढ़ाई के दौरान दोनों की मुलाकात ऑनलाइन हुई थी। दोनों ने पहले माइक्रोसॉफ्ट में काम किया। फिर वे फेसबुक में आ गए। श्रीराम कृष्णन ने टि्वटर, याहू, फेसबुक और स्नैप में मैनेजर पद की जिम्मेदारियां संभाली। अब क्लब हाउस का मूल्य लगभग 29 हजार करोड़ रुपए है।

एप एनालिटिक्स कंपनी सेंसर टॉवर के अनुसार फरवरी में एप शिखर पर था। उस समय शो के दुनियाभर में एक करोड़ डाउनलोड किए गए थे। उस माह गुड टाइम शो में मस्क और जकरबर्ग आए थे। अप्रैल में यह आंकड़ा घटकर 9 लाख हो गया।

भारतीय दंपती स्पोटीफाई जैसी कंपनियों से कड़ी प्रतिस्पर्धा और क्लब हाउस के सिमटने की सुर्खियों से चिंतित नहीं हैं। आरती कहती हैं, यदि आप 16 साल के पहले की फेसबुक और 12 वर्ष पूर्व के टि्वटर को देखिए तो इन्हें आज पहचानना मुश्किल हो जाएगा। फिर क्लब हाउस को शुरू हुए तो अभी बमुश्किल एक वर्ष हुआ है।

एलेक्स हागुड

खबरें और भी हैं...