रसरंग में देश-दुनिया के जायके:कुछ ‘खजूर वाला’ मीठा हो जाएं! टेस्टी भी, हेल्दी भी!

वीरेंद्र हांडा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कुछ अरसा पहले ही हम सभी ने बड़ी धूमधाम से और ढेर सारे पकवानों के साथ दिवाली का त्योहार मनाया है। दिवाली बीतने के बाद अब शादियों का सीजन भी शुरू हो गया है। भारत की पारंपरिक शादियों की कोई भी दावत मीठे पकवानों के बगैर अधूरी ही रहती है। लेकिन बताने की जरूरत नहीं कि अब ज्यादा मीठे का मतलब है कई बीमारियों को दावत देना। क्या आप ऐसा चाहेंगे? नहीं ना! तो आइए, आज मीठे की चर्चा ‘चीनी कम’ के साथ करते हैं। चीनी यानी शक्कर को कम करने के लिए हम नेचुरल शुगर यानी गुड़ की तरफ रुख कर सकते हैं जो मिठास में शक्कर जितना ही होगा, स्वाद में उससे भी बेहतर और अपेक्षाकृत स्वास्थ्यवर्द्धक भी। कुछ दिन पहले ही मेरी कोलकाता के सुरेश महाराज से मुलाकात हुई थी, जो बंगाली गुड़ यानी ‘नोलेन गुड़’ का इस्तेमाल कर बहुत स्वादिष्ट मिठाइयां बनाते हैं। नोलेन गुड़ खजूर से बनाया जाता है। ‘संदेश’ पूरे बंगाल में बहुत लोकप्रिय है और वे इसे इसी गुड़ से बनाते हैं। अधिकांश लोग शक्कर पारे बनाते ही हैं। दिवाली पर तो लगभग हर घर में बने होंगे। आने वाली ठंड में आप इसे गुड़ से ट्राय कीजिए यानी ‘गुड़ पारा’ बनाइए। अब तो नोलेन गुड़ से आइसक्रीम भी बनने लगी है। अपनी स्वीट डिशेज बनाने के लिए आप खजूर या ताजे फलों का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

खजूर पंजीरी

आज हम आपको शक्कर रहित एक डिश की रेसिपी भी बता रहे हैं। इसका नाम है खजूर पंजीरी। पंजीरी हमारी खान-पान की प्राचीन विरासत में प्रमुख स्थान रखती है। पंजीरी शब्द संस्कृत के दो शब्दों - 'पंच' एवं 'जिरका' से बना है। 'पंच' का मतलब है पांच और 'जिरका' का मतलब है जीरा। मूल पंजीरी को पांच चीजों- आटा, देसी घी, जीरा, धनिया व सौंठ से बनाया जाता था। बाद में इसका रूप कई तरह से बदलता गया। हालांकि नाम वही बना रहा।

कितने लोगों के लिए... : 8 से 10 लोग

क्या चाहिए...

खजूर : 500 ग्राम

बादाम : 750 ग्राम

काजू : 750 ग्राम

पिस्ता : 200 ग्राम

खजूर गुड़ : 100 ग्राम

गोंद : 100 ग्राम

देसी घी : 150 ग्राम

इलाइची पाउडर : 50 ग्राम

केसर : 1 ग्राम

ऐसे बनाएं...

- बादाम और काजू को देसी घी में भूनकर ग्राइंडर में दरदरा पीस लीजिए।

- खजूर को धीमी आंच पर 15-20 मिनट तक भूनकर इसे भी दरदरा पीस लीजिए।

- एक पैन में गोंद को फ्राय कर लें। ठंडा होने पर उसे बेलन से दरदरा पीस लीजिए।

- अब सारी चीजों को आपस में मिला लीजिए। पिस्ते से सजावट कीजिए।

खबरें और भी हैं...