रसरंग में देश-दुनिया के जायके:मकर संक्रांति पर तिल की सबसे ख़ास डिश

शिप्रा खन्ना20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

आज मकर संक्रांति है और खासकर आज के दिन तिल का धार्मिक एवं सांस्कृतिक महत्व भी है। वैसे कई लोग तासिर गर्म होने के कारण पूरी सर्दियों में तिल का सेवन करते हैं। तिल जिसे अंग्रेजी में ‘सेसमी’ कहा जाता है, की खेती सैकड़ों वर्षों से तेल के लिए की जाती रही है। ऑलिव के बाद तिल के तेल को ही सबसे सेहतमंद तेल माना जाता है। इसमें 44 से 60 फीसदी तक तेल होता है। जर्नल क्यूरेस में प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में होते हैं। प्रोटीन और विटामिन बी 6 भी पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं।

ब्रिटानिका के मुताबिक तिल का उद्गम पूर्वी अफ्रीका के जंगलों में 7,000 साल से भी पहले हुआ था, लेकिन इसकी खेती भारतीय उपमहाद्वीप में करीब 5,500 साल पहले शुरू हुई। चीन में उपलब्ध दस्तावेजों के अनुसार वहां 5 हजार साल से भी अधिक समय से तिल के बीजों का उपयोग किया जाता रहा है। वहां तिल को जलाकर वैसे ही काजल भी बनाया जाता था, जैसे हमारे यहां बादाम से बनाया जाता है। रोमन लोग जीरे के साथ तिल को पीसकर उसका इस्तेमाल ब्रेड में फ्लेवर बढ़ाने के लिए करते थे। पुरातात्विक सर्वे की रिपोर्ट्स के अनुसार तिल से तेल बनाने का पहला प्रमाण यूथोपिया में 2700 साल पहले मिलता है।

भारत में तिल का सबसे पहले उपयोग कब हुआ, इसकी जानकारी तो नहीं है, लेकिन हजारों साल पहले लिखे गए हिंदू धर्मग्रथों में तिल और धान द्वारा तर्पण का उल्लेख मिलता है। इस तरह भारत की धार्मिक प्रथाओं व संस्कृति में तिल शुरू से शामिल रहा है, जिसका विस्तार संक्रांति तक हुआ।

संक्रांति के मौके पर तिल के लड्‌डू और अन्य मिठाइयां बनाने का प्रचलन तो काफी रहा है। आज हम तिल की एक बहुत ही अलग रेसिपी बनाना सीखते हैं।

तिल-रागी केक

क्या चाहिए?

1 कप रागी का आटा

1/2 कप जौ का आटा

1/2 कप ऑलिव आयल

1.5 (डेढ़) छोटा चम्मच बेकिंग पाउडर

1 कप छाछ

1 चम्मच वनीला एसेंस

2 बड़े चम्मच तिल

1 बड़ा चम्मच तिल (सजावट के लिए अलग से)

कैसे बनाएं?

-सबसे पहले 180 डिग्री सेल्सियस पर ओवन को प्री-हीट कर लीजिए।

- अब एक बाउल लें। उसमें यहां बताई गईं सभी सूखी सामग्री को अच्छे से मिला लीजिए।

- अब इसमें ऑलिव आयल मिलाएं। साथ ही 2 बड़े चम्मच तिल और छाछ भी मिला लीजिए।

- एक विस्क (मथनी जैसा उपकरण) लीजिए और उसकी मदद से इसे फेंटना शुरू कीजिए।

- इसे तब तक फेंटिएं, जब तक कि पूरा मिश्रण स्मूथ होने तक आपस में मिल न जाए। यही आपका केक मिक्स है।

- सिलिकॉन कप केक मोल्ड्स में इस केक मिक्स को डाल दीजिए। उस एक बड़े चम्मच तिल को इसके ऊपर फैला दीजिए, जिसे आपने अलग से रखा था।

- 15 से 20 मिनट के लिए बेक करें। फिर स्क्यूवर या चाकू से उसे चेक करें। अगर स्क्यूवर या चाकू केक में से साफ निकल रहा है तो मतलब है कि केक अच्छी तरह पक गया है।

- ठंडा होने पर इसे सांचे से निकालें। इस मकर संक्रांति पर तैयार है तिल की बिल्कुल एक अलहदा डिश। हेल्दी तो है ही।

खबरें और भी हैं...