पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भास्कर 360:वेब सीरीज विवाद : पहले विवाद फिर निर्माताओं ने माफी मांगी, पर विवादित दृश्य नहीं हटाए

अमित कर्ण/ भास्कर रिसर्च3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हाल ही में ओटीटी प्लेटफार्म पर रिलीज हुई वेब सीरीज ‘तांडव’ के भारी विरोध के बाद निर्माताओं ने इसके विवादित दृश्य को हटा दिया है। आम तौर पर विवाद के बाद भी निर्माता दृश्य नहीं हटाते। इसके पहले 14 वेब सीरीज पर विवाद हुए हैं, लेकिन अधिकतर मामलों में निर्माता ने विवादित दृश्यों के लिए माफी तो मांगी लेकिन दृश्य नहीं हटाया। इसके पहले केवल एक बार ट्रिपल एक्स सीरीज में सेना से जुड़े एक दश्य को भारी विवाद और आपत्ति के बाद हटाया गया था। क्योंकि उस समय मामला सेना के अपमान से जुड़ गया था। वेब सीरीज तांडव पर धर्म और समुदाय विशेष की भावना से खिलवाड़ करने का आरोप लगा है। खास बात यह कि विरोध में आम जनता ही नहीं सरकार तक आ गई है। लखनऊ की हजरतगंज कोतवाली में इसके निर्माता-निर्देशकों समेत पांच लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। मध्य प्रदेश के जबलपुर और ग्वालियर में भी केस दर्ज कराए गए हैं। इधर 2018 में आई वेब सीरीज मिर्जापुर के दूसरे भाग की कहानी को लेकर हाल ही में मिर्जापुर में केस दर्ज किया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने इस संबंध में केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया है। कोर्ट ने कहा है कि सुनवाई सभी ओटीटी प्लेटफार्म की सामग्री पर नियंत्रण की मांग करने वाली याचिकाओं के साथ होगी। इस वेब सीरीज पर मिर्जापुर शहर की छवि को बदनाम करने के आरोप लगे हैं।

सिने विशेषज्ञ विनोद अनुपम कहते है कि वेब सीरीज विवाद आमतौर पर धार्मिक मुद्दों पर ही हाे रहे हैं। इस पर आमजन की भावनाओं को कुरेदना आसान है। कुछ फिल्म समीक्षकों का कहना है कि ऐसा देखा गया है कि औसत दर्जे की फिल्में विवादों के चलते दर्शकों तक अपनी पहुंच बनाने में कामयाब रहीं।

वेब सीरीज पर विवाद और आपत्ति के बाद क्या हुआ?

प्रमुख विवादित वेब शोज अ सूटेबल बॉय, क्वीन, घोउल, लइला, गॉडमैन, ट्रिपल एक्स सीजन- 2, पाताल लोक, फैमिली मैन, आश्रम, सेक्रेड गेम्स, मसीहा, मिर्जापुर रहे हैं। इन वेब सीरीज पर अलग-अलग जगह पुलिस थानों में शिकायतें भी दर्ज की गई हैं। हालांकि इन सभी में मेकर्स द्वारा माफीनामे के बाद विवाद थम गए और अधिकांश वेब शोज विवादित सीन और डायलॉग्स के साथ ही स्ट्रीम होते रहे।

सबसे ज्यादा विवाद और आपत्ति किन विषयों पर?

वेब सीरीज में सर्वाधिक विवाद धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने, अश्लीलता और हिंसा को लेकर होते हैं। तांडव, आश्रम, पाताल लोक, अ सूटेबल बॉय, सेक्रेड गेम्स इन सभी वेब सीरीज पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप लगे। वहीं मिर्जापुर, पाताल लोक, सेक्रेड गेम्स में गालियों के साथ ही हिंसा को बहुत ही ग्लैमरस रूप में दिखा गया है। विशेषज्ञों के अनुसार यह प्रथा समाज के लिए खतरनाक है।

इन शोज पर रहा सबसे ज्यादा विवाद

पाताल लोक : नेपाली समुदाय पर अपमानजनक भाषा पर रिपोर्ट दर्ज कराई थी। निर्माता ने माफी मांगी, दृश्य नहीं हटाया।

एक्सएक्सएक्स- 2 : मुम्बई के खार पुलिस स्टेशन में शिकायत। भारतीय सेना की यूनिफार्म और जवानों के अपमान का आरोप।

आश्रम : साधु-संतों के अपमान का आरोप लगा। निर्माता के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई। निर्माताओं ने माफी मांगी।

सेक्रेड गेम्स : सिख किरदार द्वारा कड़ा उतारकर फेंकने वाले दृश्य पर आपत्ति जताई, केस दर्ज। दृश्य नहीं हटाया गया।

सूटेबल बॉय : किसिंग सीन मंदिर में फिल्माया गया। कानूनी परीक्षण में इसे धार्मिक भावनाएं आहत करने वाला पाया गया।

हंसमुख : वकील बिरादरी इससे आहत हुई। दिल्ली हाई कोर्ट ने स्ट्रीमिंग पर रोक तो नहीं लगाई, पर आरोपों का जवाब मांगा।

घउल : इंडियन आर्मी ने इस पर आपत्ति जताई थी। इसमें सेना की छवि गलत दिखाई गई है। हिरासत में हत्याओं की बात गलत है।

इन सात पर भी विवाद : मिर्जापुर, देहली क्राइम्स, मसीहा, गंदी बात, फैमिली मैन, गॉड मैन, कृष्ण लीला (तेलुगू)

क्या रणनीति के तहत होते हैं विवाद?

फिल्म और राजनीति दोनों में विवादों की सनसनी से प्रोड्यूसर और सेलिब्रिटीज दोनों को खासा फायदा होता है, बिग बॉस जिसकी बड़ी मिसाल है। सनी लियोन को विवादास्पद कार्यक्रमों की सिस्टेमेटिक प्लानिंग से भारत में लान्च किया गया और अब वो गूगल में सबसे ज्यादा सर्च की जाती हैं। विवाद बढ़ने से फिल्म और सीरियल को फ्री में ही भारी पब्लिसिटी मिल जाती है। इसके लिए कई बार निर्माता ही अदालतों में प्रायोजित मुकदमेबाजी और पीआईएल शुरू करवा देते हैं।

- विराग गुप्ता, सुप्रीम कोर्ट के वकील और साइबर कानून विशेषज्ञ

‘तांडव’, ‘मिर्जापुर’ या बाकी वेब शोज को लेकर कंट्रोवर्सीज मैंने सुनी हैं। मेरा मानना है कि माध्यम कोई भी हो मेकर्स को हक नहीं बनता कि वो लोगों की भावनाएं आहत करें। ओटीटी प्लेटफार्म पर किसी तरह का नियंत्रण नहीं होने के कारण ही यहां अश्लीलता, अपराध, हिंसा और धार्मिक विद्वेष वाले कंटेंट की भरमार हो गई है।

- तरण आदर्श, ट्रेड एक्सपर्ट

एक विवाद किसी फिल्म या सीरीज पर थोड़ा बहुत तो ध्यान आकर्षित करने में मदद कर सकता है, लेकिन सफल होने के लिए उसे अच्छा होना चाहिए। अब तक जितने भी शोज पर विवाद हुआ उनमें से कोई भी बंद नहीं हुआ। विवाद से मिली हाइप लंबी नहीं होती।

- समीर नायर, एपलॉज एंटरटेनमेंट के प्रमुख

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें