पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

घरेलू हिंसा:कोविड-19 में घरेलू हिंसा भी महामारी बन गई

जैफ्रे क्लगर23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अमेरिका, चीन, ब्राजील, इंग्लैंड समेत दुनिया के तमाम देशों में घरेलू हिंसा की घटनाएं तेजी से बढ़ीं

21 मई 2020 की बात है। अमेरिका के नेब्रास्का में रहने वाली शीला (परिवर्तित नाम) बस एक आखिरी काम, खुद से अपनी गाड़ी ड्राइव करना चाहती थी। खोपड़ी में फ्रैक्चर, पूरे शरीर में चोटों के बीच चैतन्य होकर गाड़ी चलाना उसके लिए मुश्किल था, लेकिन यही एक रास्ता था कि उसका पति उसे घर से बाहर जाने की इजाजत दे। उसने पति से झूठ कहा कि वह उसके लिए सिगरेट लेने जा रही है। पर असल में वह इस नर्क से निकलने में पादरी की पत्नी की मदद मांगने जा रही थी।

कोविड-19 महामारी के कारण घरेलू हिंसा बद से बदतर हो गई है। इंग्लैंड स्थित एक एडवोकेसी और सहायता समूह ‘वुमन्स इंपावरमेंट एंड रिकवरी एजुकेटर्स’ के प्रोजेक्ट मैनेजर जैकी मुलवीन के अनुसार कोविड ने किसी को हिंसक नहीं बनाया, लेकिन तय है कि इसने हालात बिगाड़े हैं। इसने पुरुषों को महिलाओं पर नियंत्रण करने, उन्हें कैद रखने का मौका दिया। हिंसा करने वाले को पता था कि उनका पार्टनर घर से बाहर नहीं जा सकता, जिसका उन्होंने फायदा उठाया।

दुनिया भर के सर्वेक्षण बताते हैं कि जनवरी 2020 से घरेलू हिंसा के मामले तेजी से बढ़े हैं। अमेरिकन जर्नल ऑफ इमरजेंसी मेडिसिन और यूएन वुमन के अनुसार जब महामारी शुरू हुई तब चीन के हुबेई प्रांत में घरेलू हिंसा 300 फीसदी बढ़ी, 25% अर्जेंटीना में, 30% सिप्रस, 33% सिंगापुर और 50 फीसदी ब्राजील में बढोतरी हुई। अमेरिका में भी हालात इतने ही खराब रहे। देश भर के शहरों में पुलिस के पास शिकायतों का अंबार लग गया। विपरीत लिंग के साथी की तुलना में सेम सेक्स पार्टनर के साथ हिंसक घटनाएं अपेक्षाकृत रूप से ज्यादा हुईं। मानवाधिकार अभियान संगठन के अनुसार महामारी से शिक्षा, रेस्तरां, स्वागत-सत्कार, रिटेल क्षेत्र सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ, इन क्षेत्रों में काम करने अधिकांश एलजीबीटी समुदाय के लोगों के रोजगार पर असर पड़ा। यह तनाव का कारण बना, नतीजतन घरेलू हिंसा की घटनाएं बढ़ गईं। जहां हर तीन में एक श्वेत महिला महामारी के दौरान घरेलू हिंसा का शिकार हुई, वहीं जाति, लिंग पहचान, नागरिकता की स्थिति से हाशिए पर मौजूद लोगों में 50% महिलाएं इसका शिकार हुईं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें