--Advertisement--

महाराष्ट्र के सीएम ने कहा- हमने आंदोलन कर रहे किसानों की ज्यादातर मांगें मानीं, लिखकर भी दिया

फड़णवीस ने कहा- हमने किसानों की ज्यादातर मांगे मान ली हैं। इस बारे में उनको लेटर भी दिया है।

Dainik Bhaskar

Jul 02, 2018, 05:24 PM IST
मुंबई की तरफ बढ़ते किसान। मुंबई की तरफ बढ़ते किसान।

मुंबई. महाराष्ट्र में पूरी तरह कर्जमाफी की मांग कर रहे किसानों का मोर्चा नासिक से पैदल चलकर मुंबई पहुंचा। यहां उन्होंने महाराष्ट्र सरकार की बनाई स्पेशल कमेटी से मुलाकात की। इसमें सीएम देवेंद्र फड़णवीस भी शामिल थे। बातचीत के बाद सीएम ने कहा- हमने उनकी ज्यादातर मांगे मान ली हैं। इस बारे में उनको लेटर भी दिया है। इसके पहले, कई पार्टियों ने किसानों की मांग का समर्थन किया।


राज ठाकरे ने क्या सवाल उठाए?
- महाराष्ट्र नव निर्माण सेना के चीफ राज ठाकरे ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर हमला बोला था। ठाकरे ने इस दौरान सवाल उठाते हुए कहा कि किसानों की कर्जमाफी के शाह के वादे का क्या हुआ।
- इससे पहले रविवार को शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे ने किसानों से मुलाकात के दौरान उन्हें कर्ज से मुक्ति दिलाने की मांग की थी।

- महाराष्ट्र कांग्रेस ने भी किसानों का समर्थन किया है। कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने ट्वीट कर किसानों की फोटो शेयर की और उन्हें कांग्रेस पार्टी के समर्थन की बात कही। उन्होंने लिखा, ''सरकार के खिलाफ किसानों के इस संघर्ष में कांग्रेस पार्टी उनके साथ है। मुख्यमंत्री को किसानों से बात करनी चाहिए और उनकी मांगों को स्वीकार करना चाहिए।''

ये भी पढ़ें: कर्जमाफी को लेकर प्रदर्शन: मुंबई पहुंचे 30 हजार किसान, कुछ देर में करेंगे विधानसभा का घेराव

सरकार जागी, क्या कदम उठाए
- किसानों के रुख को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार भी एक्शन में आ गई । किसानों की मांगों पर विचार करने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने एक कमेटी गठित की है, जिसमें छह मंत्री शामिल हैं। इन मंत्रियों के नाम हैं- चंद्रकांत पाटिल, पांडुरंग फुंडकर, गिरीश महाजन, विष्णु सवारा, सुभाष देशमुख और एकनाथ शिंदे।
- रविवार को महाराष्ट्र के मंत्री गिरीश महाजन ने किसानों से जाकर मुलाकात की थी। उस दौरान उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस किसानों के साथ हैं। किसानों की 90% मांगें पूरी की जाएंगी। सोमवार को विधि मंडल में सभी मुद्दों को उठाया जाएगा। सरकार किसानों के साथ है।

आखिर क्या चाहते हैं किसान?
- किसानों के नेता और एआईकेएस सचिव राजू देसले के मुताबिक, "किसानों ने पूरे कर्ज और बिजली बिल माफी के अलावा स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करने की मांग रखी है। बीजेपी सरकार ने किसानों से किए गए वादों को पूरा न करके उनके साथ धोखा किया है।"
- "हम यह भी चाहते हैं कि सरकार विकास, हाईवे और बुलेट ट्रेन के नाम पर जबर्दस्ती किसानों की जमीन छीनना बंद कर दे।"
- "पिछले साल राज्य की बीजेपी सरकार ने सशर्त किसानों का 34 हजार करोड़ रुपए का कर्ज माफी करने का एलान किया था। इसके बाद जून से अब तक 1753 किसानों ने खुदकुशी कर ली है।"
- फसलों के सही दाम न मिलने से भी किसान नाराज है। सरकार ने हाल के बजट में भी किसानों को एमएसपी का तोहफा दिया था, लेकिन कुछ संगठनों का मानना था कि केंद्र सरकार की एमएसपी की योजना महज दिखावा है।

किसानों के लिए कितना बजट?
- राज्य में खेती की हालत खराब हो रही है। किसानों में नाराजगी बढ़ रही है। इसे देखते हुए फडणवीस सरकार ने इस बार के बजट में किसानों के लिए 75 हजार 909 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है।

X
मुंबई की तरफ बढ़ते किसान।मुंबई की तरफ बढ़ते किसान।

Live Update

  • 12-03-2018 03:46 PM

    सीएम ने क्या कहा?

    - महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फड़णवीस ने विधानसभा में कहा- हम किसानों की मांगें पूरी करने के लिए सकारात्मक सोच दिखाएंगे। मोर्चे के पहले ही दिन हमने उससे बातचीत करने को कहा था। गिरीश महाजन पहले ही दिन से उनके संपर्क में हैं। लेकिन, वो यात्रा निकालने की जल्दबाजी में थे।
  • 12-03-2018 03:28 PM

    मीटिंग में मौजूद फड़णवीस

    - किसानों के साथ महाराष्ट्र सरकार की जो बातचीत चल रही है, उसमें सीएम देवेंद्र फड़णवीस भी मौजूद हैं। 

  • 12-03-2018 11:28 AM

    मुंबई के आजाद मैदान में किसानों का प्रदर्शन

    - मुंबई के आजाद मैदान में अपनी मांगों के समर्थन में प्रदर्शन करते हुए किसान।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..