--Advertisement--

मुंबई ब्लास्ट में घायल हुआ था ये शख्स, 40 से ज्यादा ऑपरेशन, हर साल 12 मार्च को ही मनातें बर्थडे

12 मार्च 1993 को दोपहर डेढ़ बजे शेयर बाजार बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर पर हुए बम विस्फोट की चपेट में आ गए थे।

Dainik Bhaskar

Mar 12, 2018, 06:57 AM IST
12 मार्च को ही बर्थडे मनाते हैं और केक काटते हैं। कहते हैं- ‘मेरा तो पुनर्जन्म हुआ है। ये मेरी 25वीं सालगिरह है।’ 12 मार्च को ही बर्थडे मनाते हैं और केक काटते हैं। कहते हैं- ‘मेरा तो पुनर्जन्म हुआ है। ये मेरी 25वीं सालगिरह है।’

मुंबई. शेयर बाजार में ब्रोकर का काम करने वाले कीर्ति अजमेरा 12 मार्च 1993 को दोपहर डेढ़ बजे शेयर बाजार बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर पर हुए बम विस्फोट की चपेट में आ गए थे। तब से अब तक उनके 40 से ज्यादा ऑपरेशन हो चुके हैं। उस धमाके के बाद से कीर्ति ने अपना जन्मदिन बदल लिया। अब वह 12 मार्च को ही बर्थडे मनाते हैं और केक काटते हैं। कहते हैं- ‘मेरा तो पुनर्जन्म हुआ है। ये मेरी 25वीं सालगिरह है।’ 12 धमाके हुए थे एकसाथ...

- आज 12 मार्च है। इस दिन मुंबई सीरियल ब्लास्ट से दहल उठी थी। 2 घंटे 10 मिनट के भीतर एक के बाद एक 12 धमाके हुए थे।

- 257 लोग मारे गए। 1300 से ज्यादा लोग जख्मी हुए। यह उस वक्त दुनिया का सबसे बड़ा आतंकी हमला था।

- देश में पहली बार विस्फोटकों में आरडीएक्स का इस्तेमाल हुआ था।

- यह हमला अंडरवर्ल्ड ने कराया था। अभी भी धमाकों से जुड़े लोगों के खिलाफ धरपकड़ जारी है।

शेयर बाजार में ब्रोकर का काम करने वाले कीर्ति अजमेरा 12 मार्च 1993 को दोपहर डेढ़ बजे शेयर बाजार बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर पर हुए बम विस्फोट की चपेट में आ गए थे। शेयर बाजार में ब्रोकर का काम करने वाले कीर्ति अजमेरा 12 मार्च 1993 को दोपहर डेढ़ बजे शेयर बाजार बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर पर हुए बम विस्फोट की चपेट में आ गए थे।
X
12 मार्च को ही बर्थडे मनाते हैं और केक काटते हैं। कहते हैं- ‘मेरा तो पुनर्जन्म हुआ है। ये मेरी 25वीं सालगिरह है।’12 मार्च को ही बर्थडे मनाते हैं और केक काटते हैं। कहते हैं- ‘मेरा तो पुनर्जन्म हुआ है। ये मेरी 25वीं सालगिरह है।’
शेयर बाजार में ब्रोकर का काम करने वाले कीर्ति अजमेरा 12 मार्च 1993 को दोपहर डेढ़ बजे शेयर बाजार बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर पर हुए बम विस्फोट की चपेट में आ गए थे।शेयर बाजार में ब्रोकर का काम करने वाले कीर्ति अजमेरा 12 मार्च 1993 को दोपहर डेढ़ बजे शेयर बाजार बिल्डिंग के ग्राउंड फ्लोर पर हुए बम विस्फोट की चपेट में आ गए थे।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..