--Advertisement--

अंबानी से लेकर अमिताभ बच्चन तक पीते हैं इस डेयरी का दूध, इतना Hi-tech है ये फॉर्म

पुणे में 'भाग्यलक्ष्मी' नाम से एक डेयरी चल रही है, जिसके कस्टमर की लिस्ट में बड़ी-बड़ी हस्तियां शामिल हैं।

Danik Bhaskar | Mar 26, 2018, 12:05 PM IST

मंचर (पुणे). महाराष्ट्र के पुणे में 'भाग्यलक्ष्मी' नाम से एक डेयरी चल रही है, जिसके कस्टमर की लिस्ट में बड़ी-बड़ी हस्तियां शामिल हैं। अंबानी परिवार से लेकर अमिताभ बच्चन, सचिन तेंदुलकर, अक्षय कुमार, ऋतिक रोशन जैसे सेलेब्स के घरों में इसी डेयरी का दूध जाता है। गौरतलब है कि एक लीटर दूध की कीमत 90 रुपए है। काफी हाईटेक है ये फॉर्म, मालिक खुद को बताते हैं देश का सबसे बड़ा ग्वाला...


- इस डेयरी फार्म के मालिक देवेंद्र शाह खुद को देश का सबसे बड़ा ग्वाला बताते हैं। उन्होंने बताया कि पहले वे कपड़े का बिजनेस करते थे। इसके बाद डेयरी को अपना कारोबार बनाया।
- शाह ने 175 कस्टमर्स के साथ 'प्राइड ऑफ काउ' प्रोडक्ट की शुरुआत की थी। आज मुंबई और पुणे में 'भाग्यलक्ष्मी' के 22 हजार हजार से ज्यादा कस्टमर हैं। इनमें कई बड़े सेलेब्स भी शामिल हैं।
- जानकारी के मुताबिक, शाह के इस फार्म पर 2,000 से ज्यादा डच होल्स्टीन गाये हैं। हर एक की कीमत 90 हजार से एक लाख रुपए तक है।
- बता दें कि 26 एकड़ में बने इस डेयरी फॉर्म पर हर दिन 25 हजार लीटर से ज्यादा दूध का प्रोडक्शन होता है।

RO का पानी पीती हैं गायें

- यहां गायों के लिए बिछाया गया रबर मैट दिन में 3 बार साफ होता है। वहीं, यहां की गायें केवल RO का पानी पीती हैं।
- इसके अलावा फॉर्म में 24 घंटें म्यूजिक चलता रहता है। खाने में उन्हें सोयाबीन, अल्फा घास, मौसमी सब्जियां और मक्की का चारा दिया जाता है।

दूध निकालने से लेकर पैकिंग तक नहीं लगता इंसानी हाथ
- फार्म में एंट्री लेने से पहले पैरों पर पाउडर से डिसइंफेक्शन करना जरूरी है। बता दें कि यहां गाय का दूध निकालने से लेकर बॉटलिंग तक का काम सबकुछ ऑटोमैटिक होता है।
- इसके अलावा दूध निकालने से पहले हर गाय का वजन और टेम्प्रेचर चेक होता है। अगर गाय बीमार है, तो उसे सीधे हॉस्पिटल भेजा जाता है।
- दूध पाइपों के जरिए साइलोज में और फिर पॉश्चुराइज्ड होकर बोतल में बंद हो जाता है। एक बार में 50 गाय का दूध निकाला जाता है। जिसमें सात मिनट लगते हैं।

फ्रीजिंग वैन से होम डिलिवरी
- शाह की बेटी और कंपनी की मार्केटिंग हैड अक्षाली शाह बताती हैं कि रोजाना 163 किलोमीटर का सफर कर फ्रीजिंग डिलिवरी वैन से दूध साढ़े तीन घंटे में मुंबई पहुंचता है।
- डिलिवरी मैन सुबह 5.30 से 7.30 के बीच दूध ग्राहकों तक पहुंचाता है। कई बार पूना का कस्टमर मुंबई या मुंबई का कस्टमर पूना में दूध मांगता है तो भी देने की कोशिश करते हैं।
- ‘प्राइड ऑफ काउ’ के लिए हर कस्टमर का एक लॉगिन आईडी होता है। जिस पर वह ऑर्डर चेंज या रद्द कर सकते हैं। डिलिवरी की जगह बदलवा सकते हैं।

2020 तक इतना हो जाएगा डेयरी मार्केट
- इन्वेस्टर रिलेशन्स सोसाइटी (IRS) की रिपोर्ट के मुताबिक, 2020 तक भारत के डेयरी मार्केट 140 बिलियन डॉलर (9,08,670 करोड़ रु) पार कर जाएगा। 2013 में ये बाजार लगभग 70 मिलियन डॉलर (4,54,335 करोड़ रु) का था।