Hindi News »Maharashtra »Mumbai» An It Engineer Torture To Wife For Perfect Diameter Of Roti In Pune

पति की फरमाइश- रोटी का व्यास 20 सेंटीमीटर ही होना चाहिए, पत्नी पहुंची कोर्ट

पत्नी का कहना है कि उसका आईटी इंजीनियर पति चाहता है कि गोल रोटी की परिधि का व्यास 20 सेमी होना चाहिए।

Bhaskar News | Last Modified - Mar 28, 2018, 08:49 AM IST

  • पति की फरमाइश- रोटी का व्यास 20 सेंटीमीटर ही होना चाहिए, पत्नी पहुंची कोर्ट
    +1और स्लाइड देखें
    पति की यह शर्त कि रोटी का व्यास 20 सेमी होना चाहिए। - सिम्बॉलिक

    पुणे. तलाक के लिए एक महिला ने यहां की अदालत में आवेदन किया है। वजह पति की यह शर्त कि रोटी का व्यास 20 सेमी होना चाहिए। पत्नी ने पति के खिलाफ घरेलू हिंसा के मामले में शिकायत की है। पत्नी का कहना है कि उसका आईटी इंजीनियर पति चाहता है कि गोल रोटी की परिधि का व्यास 20 सेमी होना चाहिए। ऐसा न होने पर मारपीट करता है। तंग आकर महिला ने तलाक के लिए आवेदन किया है। घर के छोटे से छोटे काम में बना रखे थे प्रोटोकॉल...

    - मामला महाराष्ट्र के पुणे का है। अर्चना के पति अनिल (दोनों बदले हुए नाम) आईटी इंजीनियर हैं। घर के छोटे से छोटे काम के लिए अनिल ने प्रोटोकॉल बना रखे थे। जैसे कि- रोटी पूरी तरह गोल हो और इसका व्यास 20 सेमी ही होना चाहिए। ना इससे एक सेमी कम, ना इससे ज्यादा।

    - घर के कामों का हिसाब लेने के लिए अनिल ने अर्चना को एक्सल शीट बनाकर दे रखी थी। शीट में 3 कॉलम थे- पूरा किया हुआ काम, पूरा नहीं किया हुआ काम और वो काम जो चल रहे हैं। पत्नी को रोज शीट भरनी रहती थी।

    - शाम को ऑफिस से आकर पति एक्सल शीट देखता था और घर के पूरे-अधूरे कामों का पत्नी से हिसाब लेता था। कितना आटा पिसाना है, कितना चावल चढ़ाना है, कितनी सब्जी लेनी है, सब पति ही बताता था।

    - जब पति घर से बाहर है, उस वक्त कुछ पूछना हो तो पत्नी को ई-मेल करना पड़ता था। तंग आकर पत्नी ने कोर्ट में तलाक की अर्जी लगा दी है। अर्चना की वकील सुप्रिया डोंगरे ने बताया कि- ‘पति-पत्नी दोनों उच्च शिक्षा प्राप्त हैं।

    - अर्चना ने कम्प्यूटर साइंस से एमएससी किया है। अनिल इंजीनियर हैं। शादी के कुछ समय बाद तक दोनों के बीच रिश्ते अच्छे रहे। धीरे-धीरे अनिल हर काम के लिए ऑर्डर देने लगा। 2010 से वो हर काम के लिए पत्नी से एक्सेल शीट भरवाने लगा।

    - अगर घर का कोई काम अधूरा रह गया तो पत्नी को लिखित में स्पष्टीकरण देना पड़ता था। परेशान होकर अर्चना अक्टूबर 2017 से पति से अलग रह रही हैं। कोर्ट में अप्रैल में सुनवाई होगी।’

    - अर्चना का आरोप है कि- अगर पति का कहा कोई भी काम अधूरा रह जाए या उसके तय किए प्रोटोकॉल में कोई कमी रह जाए, तो वो उन्हें पीटता भी था। ये हिंसा सिर्फ पत्नी को ही नहीं, बल्कि उनकी छह साल की बेटी को भी झेलनी पड़ती थी।

    - अनिल अक्सर उनके साथ-साथ उनकी बेटी को भी पीटता था। कई बार चाकू लेकर बेटी के पीछे दौड़ा। पत्नी ने बीच-बचाव कर बेटी को बचाया।

    लंबी लिस्ट में पति एक डिश अप्रूव करता था, तब बनता था नाश्ता...

    - रोज सुबह पत्नी एक लिस्ट पति को देती थी। इसमें सुबह के नाश्ते के तमाम विकल्प होते थे। पति खुद उनमें से एक नाश्ता अप्रूव करता था, फिर घर में वही नाश्ता बनता था। इसी तरह घरेलू सामानों की लिस्ट भी पहले पति अप्रूव करता था। फिर पत्नी बाजार से सामान लाती थी और हर सामान और उसके दाम की एंट्री एक्सल शीट में करती थी। तेल, घी, दाल-चावल कुछ भी तय मात्रा से ज्यादा इस्तेमाल हुआ तो उसका भी हिसाब देना पड़ता था।

  • पति की फरमाइश- रोटी का व्यास 20 सेंटीमीटर ही होना चाहिए, पत्नी पहुंची कोर्ट
    +1और स्लाइड देखें
    पत्नी ने पति के खिलाफ घरेलू हिंसा के मामले में शिकायत की है। - सिम्बॉलिक
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mumbai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×