--Advertisement--

कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री पतंगराव कदम नहीं रहे, लीलावती अस्पताल में ली अंतिम सांस

8 जनवरी 1945 में सांगली में जन्मे कदम पिछली अघाड़ी सरकार में राज्य के वनमंत्री थे।

Danik Bhaskar | Mar 10, 2018, 03:53 AM IST

मुंबई. पूर्व मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पतंगराव कदम का शुक्रवार की रात निधन हो गया। वे 73 वर्ष के थे। विधायक कदम को किडनी की बीमारी के चलते बीते 5 मार्च को मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान शुक्रवार की रात करीब 9: 30 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। कदम की सेहत बिगड़ने के बाद पिछले कई दिनों से उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था।

शुक्रवार की सुबह उन्हें देखने के लिए कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी अस्पताल गई थीं। कदम के निधन की खबर से राजनीतिक जगत में शोक की लहर है। कदम महाराष्ट्र के प्रमुख शिक्षा संस्थानों में गिने जाने वाले भारतीय विद्यापीठ के संस्थापक भी थे। 8 जनवरी 1945 में सांगली में जन्मे कदम पिछली अघाड़ी सरकार में राज्य के वनमंत्री थे।


10वीं उत्तीर्ण कर की शिक्षक की नौकरी
कदम ने 10वीं की परीक्षा उत्तीर्ण कर बतौर अंशकालिक शिक्षक की नौकरी से अपने कॅरियर की शुरुआत की थी। बाद में लॉ और पीएचडी की भी डिग्री हासिल की। भारती विद्यापीठ के संस्थापक कदम कांग्रेस के कद्दावर नेता थे। उनके सुपुत्र विश्वजीत कदम महाराष्ट्र प्रदेश युवक कांग्रेस के अध्यक्ष हैं।