Hindi News »Maharashtra »Mumbai» Dainik Bhaskar Became Urban Indias Largest Reading News Paper According To Indian Readership Survey 2017

भास्कर अर्बन इंडिया का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला न्यूज पेपर ग्रुप, 3 साल में अखबारों ने 11Cr रीडर जोड़े

एमपी में रीडरशिप के मामले में दैनिक भास्कर अपने तीनों कॉम्पिटीटर को मिलाकर भी आगे है।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 29, 2018, 09:54 AM IST

भास्कर अर्बन इंडिया का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला न्यूज पेपर ग्रुप, 3 साल में अखबारों ने 11Cr रीडर जोड़े

मुंबई.भारत में अखबारों की रीडर्स की तादाद लगातार बढ़ रही है। इंडियन रीडरशिप सर्वे- 2017 के मुताबिक तीन सालों में देशभर के अखबारों ने मिलकर 11 करोड़ नए पाठक जोड़े हैं। यानी रीडरशिप में कुल 39% बढ़ोतरी दर्ज की गई है। भारत में अब 12 साल से ज्यादा उम्र के 41 करोड़ लोग अखबार पढ़ते हैं। इनमें दैनिक भास्कर ग्रुप के कुल 5 करोड़ 88 लाख रीडर्स शामिल हैं। दैनिक भास्कर ग्रुप अब अर्बन इंडिया का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला न्यूज पेपर ग्रुप है। दूसरे पायदान पर टाइम्स आॅफ इंडिया समूह और तीसरे स्थान पर दैनिक जागरण ग्रुप है।

12 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के बीच किया गया ये सर्वे

- सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक, कुल पाठकों की संख्या के मामले में 17.6 करोड़ रीडर्स के साथ हिंदी अखबार पहले नंबर पर हैं।

- तमिल डेली के 3.4 करोड़ और मराठी के भी 3.4 करोड़ रीडर्स हैं। चौथे पर अंग्रेजी अखबार हैं। उनके 2.7 करोड़ रीडर्स हैं।

- तेलुगू अखबारों की रीडरशिप 2.5 करोड़ है। इसके बाद मलयालम (2.4 करोड़), गुजराती (2.3 करोड़) और बंगाली न्यूज पेपर (2.1 करोड़) आते हैं।

- आईआरएस-2017 के मुताबिक मैगजीन पढ़ने वालों की तादाद 7.8 करोड़ है।

- आईआरएस का सर्वे शहरी और रूरल इलाकों में 12 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के बीच किया गया है।

(*सोर्स: आईआरएस-2017 मेन प्लस वैरियंट/एआईआर एक्सक्लूडिंग फिन पेपर)

मध्यप्रदेश: भास्कर तीनों कॉम्पिटीटर को मिलाकर भी आगे
- मध्य प्रदेश में रीडर्स का भरोसा भास्कर पर बहुत बढ़ा है। रीडरशिप के मामले में दैनिक भास्कर अपने कॉम्पिटीटर नंबर एक, दो और तीन को मिलाकर भी, करीब उनसे ज्यादा है।

- मध्य प्रदेश में भास्कर की कुल रीडरशिप 1.18 करोड़ है। राज्य के तीन सबसे बड़े शहरों में भी भास्कर अपने कॉम्पिटीटर से काफी आगे है।

- भोपाल में भास्कर के 6.15 लाख रीडर्स हैं। वहीं इंदौर में 8.83 लाख और ग्वालियर मेंं 3.46 लाख रीडर्स हैं।

राजस्थान: भास्कर जयपुर में करीबी कॉम्पिटीटर से 75% आगे
- दैनिक भास्कर 63.91 लाख रीडर्स के साथ शहरी राजस्थान में नंबर वन पर है।
- ग्रामीण क्षेत्रों में भास्कर के 87 लाख रीडर्स हैं। जयपुर में भास्कर के 12.32 लाख पाठक हैं जबकि राजस्थान पत्रिका के 7 लाख रीडर्स हैं। यानी भास्कर अपने करीबी कॉम्पिटीटर से 75% आगे है।
- जोधपुर में 3.91 लाख रीडर्स के साथ भास्कर नंबर वन है। कोटा में 4.63 लाख पाठक हैं। बीकानेर में 2.10 लाख और अजमेर में 2.03 लाख रीडर्स के साथ भास्कर नंबर वन पर है।

हरियाणा: 6.34 लाख रीडर्स के साथ भास्कर नंबर-1

- हरियाणा में दैनिक भास्कर 36.34 लाख पाठकों के साथ नंबर वन है। खास तौर पर एनसीसीएसए, यानी अपर क्लास में दैनिक भास्कर के रीडर्स की तादाद अपने करीबी कॉम्पिटीटर से दोगुना है।

(सोर्स: हरियाणा एक्सक्लूडिंग एनसीटी)

चंडीगढ़: 3.71 लाख रीडर्स के साथ दैनिक भास्कर नंबर-1

चंडीगढ़ में दैनिक भास्कर हिंदी और अंग्रेजी के अखबारों को मिलाकर भी अपने कॉम्पिटीटर से आगे है। भास्कर कुल 3.71 लाख रीडर्स के साथ नंबर वन है।

गुजरात: दिव्य भास्कर समूह के 93.77 लाख रीडर्स

रीडरशिप सर्वे में दिव्य भास्कर अहमदाबाद में 19.84 लाख रीडर्स के साथ एक बार फिर नंबर वन साबित हुआ है। दिव्य भास्कर ग्रुप के गुजरात में कुल 93.77 लाख रीडर्स हैं।

(*सोर्स: आईआरएस मेन प्लस वेरियंट, टोटल रीडरशिप)

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Mumbai News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: bhaaskar arban India ka sabse jyada pढ़aa jaane vaalaa nyuj pepar garup, 3 saal mein akhbaaron ne 11Cr ridar joड़e
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Mumbai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×