Hindi News »Maharashtra »Mumbai» Demonetisation Banned Notes Recycling In Puzal Jail

500-1000 रु. के नोट को रिसाइकिल कर यहां बनाया जा रहा कुछ अनोखा

आरबीआई नोटबंदी में बैन हुए 500, 1,000 रुपए के 70 टन कटे नोट जेल को देगी।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 09, 2018, 06:31 PM IST

  • 500-1000 रु. के नोट को रिसाइकिल कर यहां बनाया जा रहा कुछ अनोखा
    +8और स्लाइड देखें
    बंद हुए नोटों को चेन्नई की पुजल सेंट्रल जेल में रिसाइकिल किया जा रहा है।

    चेन्नई. नोटबंदी में बैन हुए 500 और 1000 रुपए की करंसी को चेन्नई की पुजल सेंट्रल जेल में रिसाइकिल किया जा रहा है। इसके लिए रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया जेल एडमिनिस्ट्रेशन को करीब 70 टन नोट दिए जाएंगे। इसमें से 9 टन कतरन जेल में लाई जा चुकी है। इन नोटों को एक प्रॉसेस से गुजारने के बाद स्टेशनरी का रूप दे दिया जाता है। खास बात ये है कि इस काम को जेल के सजायाफ्ता कैदियों द्वारा अंजाम दिया जा रहा है। उन्हें इस काम के एवज में मेहनताना भी दिया जा रहा है।

    इस तरह की स्टेशनरी बनाने वाला ये देश का पहला सेंट्रल जेल

    - मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 20-25 कैदी रोजाना पुराने नोटों को रिसाइकिल कर स्टेशनरी जैसे- फाइल पैड बना रहे हैं। पुजल जेल के कैदियों को इसके लिए 160 से 200 रुपए रोजाना मेहनताना दिया जा रहा है और 8 घंटे काम लिया जा रहा है। बताया जा रहा है कि पुराने नोटों से इस तरह की स्टेशनरी बनाने वाला ये देश का पहला सेंट्रल जेल है।

    अब तक 1.5 टन पुराने नोट हो चुके हैं रिसाइकिल

    - जेल डीआईजी ए. मुरुगेसन ने न्यूज एजेंसी को दिए इंटरव्यू में बताया - "रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने हमें चलन से बाहर हुए नोटों के टुकड़े देने की पेशकश की थी। जेल को दिए जाने वाले 70 टन में से अब तक नौ टन वजन के नोट मिल चुके हैं। उन्होंने बताया कि फाइल पैड बनाने में अब तक 1.5 टन पुराने नोटों को इस्तेमाल में लाया चुका है।"

    बैन नोट रखने पर लग सकता हैजुर्माना

    - 8 नवंबर 2016 को भारत सरकार के नोटबंदी के एलान के बाद से ही 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट चलन से बाहर किए जा चुके हैं।

    - बता दें कि नोटबंदी के बाद सरकार के जारी किए गए ऑर्डिनेंस के मुताबिक, नोटबंदी के बाद चलन से बाहर किए गए 500 और 1000 के नोट रखने पर जुर्माना लग सकता है और तो और जेल भी हो सकती है।

  • 500-1000 रु. के नोट को रिसाइकिल कर यहां बनाया जा रहा कुछ अनोखा
    +8और स्लाइड देखें
    बैन हो चुके नोट की कतरन को जेल भेजा गया है। कुल 70 टन कतरन यहां लाई जाएगी।
  • 500-1000 रु. के नोट को रिसाइकिल कर यहां बनाया जा रहा कुछ अनोखा
    +8और स्लाइड देखें
    जेल को दिए जाने वाले 70 टन में से अब तक नौ टन कतरन मिल चुकी है।
  • 500-1000 रु. के नोट को रिसाइकिल कर यहां बनाया जा रहा कुछ अनोखा
    +8और स्लाइड देखें
    फाइल पैड बनाने में अब तक 1.5 टन पुराने नोटों को इस्तेमाल में लाया जा चुका है।
  • 500-1000 रु. के नोट को रिसाइकिल कर यहां बनाया जा रहा कुछ अनोखा
    +8और स्लाइड देखें
    पुजल जेल के कैदियों को इसके लिए 160 से 200 रुपए रोजाना मेहनताना दिया जा रहा है।
  • 500-1000 रु. के नोट को रिसाइकिल कर यहां बनाया जा रहा कुछ अनोखा
    +8और स्लाइड देखें
    इन नोटों को एक प्रॉसेस से गुजारने के बाद स्टेशनरी का रूप दे दिया जाता है।
  • 500-1000 रु. के नोट को रिसाइकिल कर यहां बनाया जा रहा कुछ अनोखा
    +8और स्लाइड देखें
    बैन हुए नोटों को रिसाइकिल कर स्टेशनरी बनाने की प्रॉसेस में जुटे कैदी।
  • 500-1000 रु. के नोट को रिसाइकिल कर यहां बनाया जा रहा कुछ अनोखा
    +8और स्लाइड देखें
    पुजल सेंट्रल जेल में कैदी ब्रेड बनाने का काम भी करते हैं।
  • 500-1000 रु. के नोट को रिसाइकिल कर यहां बनाया जा रहा कुछ अनोखा
    +8और स्लाइड देखें
    पुराने नोटों से इस तरह की स्टेशनरी बनाने वाला ये देश का पहला सेंट्रल जेल है।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Mumbai News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Demonetisation Banned Notes Recycling In Puzal Jail
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Mumbai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×