--Advertisement--

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा- प्रधानमंत्री बनने का सपना नहीं देख रहा

एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘मैं संतुष्ट हूं। मैं प्रधानमंत्री बनने का सपना नहीं देख रहा, ना

Danik Bhaskar | Mar 11, 2018, 07:32 AM IST

मुंबई. केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी ने खुद को संतुष्ट व्यक्ति बताते हुए कहा कि प्रधानमंत्री बनना उनका लक्ष्य नहीं है। 2019 के लोकसभा चुनावों में सरकार बनाने के लिए जरूरी आंकड़ा पाने में नाकाम रहने पर उन्हें सर्वसम्मति से उम्मीदवार चुने जाने की संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर गडकरी ने विश्वास जताया कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा सत्ता में बनी रहेगी।

मुंबई में आयोजित एक न्यूज चैनल के कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘मैं संतुष्ट हूं। मैं प्रधानमंत्री बनने का सपना नहीं देख रहा, ना ही मेरी ऐसी कोई ख्वाहिश है। मैं अपनी हैसियत के मुताबिक काम करता हूं। मैंने कभी किसी को भी अपनी फोटो नहीं दी, न कभी किसी को अपना बायोडाटा दिया, ना ही मैंने कहीं अपना कटआउट लगाया। ना कोई मुझे लेने के लिए हवाईअड्‌डे पर आता है। मैं अपनी क्षमता के अनुसार काम करता हूं।


यह पूछे जाने पर कि भाजपा के अपने सहयोगियों तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी), शिवसेना व अकाली दल के साथ तनावपूर्ण संबंधों और वर्ष 2019 के लोकसभा चुनावों में सरकार बनाने के लिए जरूरी आंकड़ा पाने में नाकाम रहने पर क्या उन्हें सर्वसम्मति से उम्मीदवार चुना जायेगा? जवाब में गडकरी ने कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा सत्ता में बनी रहेगी।

बदलाव प्रकृति का नियम
- इस सवाल पर कि अन्य नेताओं की तुलना में शाह और मोदी के नेतृत्व में भाजपा में क्या कोई बदलाव आया है? गडकरी ने कहा कि बदलाव तो प्रकृति का नियम है। हर किसी को बदलना ही पड़ता है। भाजपा के अच्छे दिन के नारे और वादों को पूरा करने के संदेश के साथ पार्टी मतदाताओं के पास जाएगी? पूछे जाने पर गडकरी ने कहा कि मानवीय आकांक्षाएं असीम हैं। रोटी, कपड़ा और मकान हासिल करना किसी व्यक्ति के अंदर अच्छे दिन के नारे में विश्वास पैदा कर सकता है। लोगों की जरूरतों के समाधान के लिये मोदी सरकार द्वारा उठाए गए कदम इसे प्रदर्शित करते हैं।