--Advertisement--

सारा तेंडुलकर से IAS अफसर की बेटी तक, जब इनके पीछे पड़े सनकी आशिक

सचिन की बेटी सारा तेंडुलकर को फोन करता था बंगाल का सनकी आदमी।

Dainik Bhaskar

Jan 08, 2018, 01:10 PM IST
सारा तेंडुलकर से पहले पिछले साल हरियाणा कैडर आईएएस अफसर की बेटी वर्णिका स्टॉकिंग का शिकार हुई थीं। सारा तेंडुलकर से पहले पिछले साल हरियाणा कैडर आईएएस अफसर की बेटी वर्णिका स्टॉकिंग का शिकार हुई थीं।

मुंबई. राज्यसभा के मानदीय सांसद और पूर्व दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंडुलकर की बेटी सारा को सनकी स्टॉकर ने परेशान किया। बंगाल के एक कॉलेज ड्रॉपआउट ने न सिर्फ सारा को लगातार कॉल किए, बल्कि किडनैपिंग की धमकी तक दे डाली। यह पहला मौका नहीं जब सेलेब्स या उनके फैमिली मेंबर्स स्टॉकर्स से परेशान हुए हैं। DainikBhaskar.com कुछ ऐसे ही केस बता रहा है।

IAS की बेटी हुई थी शिकार

- पिछले साल अगस्त में चंडीगढ़ निवासी हरियाणा कैडर के IAS वीरेंद्र कुंडू की बेटी को सड़क पर 30 मिनट तक स्टॉक किया गया। यह हाई प्रोफाइल केस काफी चर्चा में रहा था।
- 4 अगस्त 2017 की रात 29 साल की वर्णिका कुंडू अपनी कार ड्राइव करते हुए घर लौट रही थीं। तभी कुछ लड़कों ने कार से उनका पीछा किया और बार-बार रास्ता रोकने की कोशिश की। यही नहीं, वर्णिका द्वारा की पुलिस कंप्लेंट के मुताबिक लड़कों ने उनकी कार का गेट खोलने की भी कोशिश की।
- 7 किमी तक पीछा किए जाने के बाद एक पीसीआर वैन ने वर्णिका को बचाया था।

क्या हुआ सचिन की बेटी के साथ

- सचिन तेंडुलकर की बेटी सारा को फोन पर परेशान करने के आरोप में पुलिस ने एक आर्टिस्ट को पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार किया

- मुंबई पुलिस के मुताबिक आरोपी देव कुमार ईस्ट मिदनापुर का रहने वाला है। पेशे से आर्टिस्ट है। कुछ महीने पहले वह प्रोजेक्ट के सिलसिले में मुंबई आया था। इसी दौरान उसे कहीं से तेंडुलकर की बेटी सारा का मोबाइल नंबर मिला।
- इसके बाद आरोपी सारा के नंबर पर बार-बार फोन कर उन्हें परेशान करने लगा। देव कुमार ने कई बार सारा के सामने शादी का प्रपोजल रखा। आरोपी का दावा है कि वह सारा से प्यार करता है।

अगर आप भी हो रही हैं स्टॉक, ये है कंप्लेंट करने का तरीका

- नेशनल कमीशन फॉर वुमन ने स्टॉकर्स से निपटने के लिए ऑनलाइन कंप्लेंट की सुविधा दी है।
- इस वेबसाइट पर जाकर पीड़िता देश के किसी भी कोने से ऑनलाइन कंप्लेंट फाइल कर सकती है।
- कंप्लेंट के बाद NCW संबंधित क्षेत्र के पुलिस स्टेशन को इन्वेस्टिगेशन जल्दी पूरी करने के लिए कहती है।
- सीरियस केस की कंडीशन में NCW एक इनक्वायरी कमेटी बनाती है, जो आगे का इन्वेस्टिगेशन खुद करती है।
- NCW के पास आरोपी, गवाह और पुलिस रिकॉर्ड्स को अपने ऑफिस बुलाकर पूछताछ करने के अधिकार हैं।

Sachin Tendulkar to IAS officer, daughters in india are not safe
Sachin Tendulkar to IAS officer, daughters in india are not safe
Sachin Tendulkar to IAS officer, daughters in india are not safe
Sachin Tendulkar to IAS officer, daughters in india are not safe
Sachin Tendulkar to IAS officer, daughters in india are not safe
X
सारा तेंडुलकर से पहले पिछले साल हरियाणा कैडर आईएएस अफसर की बेटी वर्णिका स्टॉकिंग का शिकार हुई थीं।सारा तेंडुलकर से पहले पिछले साल हरियाणा कैडर आईएएस अफसर की बेटी वर्णिका स्टॉकिंग का शिकार हुई थीं।
Sachin Tendulkar to IAS officer, daughters in india are not safe
Sachin Tendulkar to IAS officer, daughters in india are not safe
Sachin Tendulkar to IAS officer, daughters in india are not safe
Sachin Tendulkar to IAS officer, daughters in india are not safe
Sachin Tendulkar to IAS officer, daughters in india are not safe
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..