--Advertisement--

भारतीय ने खोजा सबसे तेज इलेक्ट्रॉन्स का लाइफ टाइम, कैंसर में मिलेगी मदद

पिछले दो साल से कुलाबा स्थित टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च (टीआईएफआर) के लैब में यह शोध चल रहा था, जो सफल रहा।

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 06:38 AM IST

मुंबई. सबसे ‘तेज इलेक्ट्रॉन्स’ के लाइफ टाइम का दुनिया में सबसे पहले पता लगाने की उपलब्धि 10 भारतीय शोधकर्ताओं की टीम ने हासिल की है। पिछले दो साल से कुलाबा स्थित टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च (टीआईएफआर) के लैब में यह शोध चल रहा था, जो सफल रहा।

टीम के लीडर प्रोफेसर जी. रवींद्र कुमार ने कहा, ‘इलेक्ट्रॉन्स कांच जैसी ठोस चीज में प्रकाश से भी अधिक तेज गति से आगे बढ़ते हैं। इस बात का पता 1930 में ही लगाया जा चुका था, परंतु सबसे ‘तेज इलेक्ट्रॉन्स’ के जीवनकाल के बारे में खोज करने में कोई भी सफल नहीं हो पाया था।

हमारी टीम ने पहली बार दुनिया को अपने शोध के माध्यम से यह पता लगाकर बताया है कि सबसे ‘तेज इलेक्ट्रॉन्स’ का लाइफ टाइम 50 पिकोसेकंड है। जो लाइट पल्स से 1000 गुना अधिक है।’ एक्स-रे और प्रोटोन्स इमेजिंग में इसका इस्तेमाल होगा। बायोलॉजिकल इमेजिंग और कैंसर थैरेपी में भी इसके इस्तेमाल का जो ट्रायल चल रहा है, वह भविष्य में संभव हो पाएगा।