--Advertisement--

9 राज्यों के 60 से ज्यादा जिलों में बारिश घटी, तापमान बढ़ा

इकोनॉमिक सर्वे में सामने आया बदल रहा है पैटर्न

Dainik Bhaskar

Mar 11, 2018, 01:42 AM IST
देश में मानसून का पैटर्न बदलता दिखाई दे रहा है। - सिम्बॉलिक देश में मानसून का पैटर्न बदलता दिखाई दे रहा है। - सिम्बॉलिक

औरंगाबाद. मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, गुजरात, महाराष्ट्र, पंजाब, हरियाणा, कर्नाटक, तेलंगाना और झारखंड। इन 9 राज्यों के 61 से ज्यादा जिलों में पिछले सालों में तापमान में 0.25 से 0.75 डिग्री सेल्सियस का इजाफा हुआ है। जबकि इन जिलों में इस दौरान 50 से 500 मिमी औसतन बारिश कम हुई।

इकोनॉमिक सर्वे में दिखा बदला पैटर्न
- इकोनॉमिक सर्वे 2018 में मौसम के बदलाव के कई नए तथ्य सामने आ रहे हैं। इसके अनुसार देश में मानसून का पैटर्न बदलता दिखाई दे रहा है। बारिश के मुद्दे पर मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तरप्रदेश, केरल और नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में सबसे ज्यादा चिंता करने वाली स्थिति है।

- खासकर मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश और छत्तीसगढ़ में बारिश का स्तर कम होता दिख रहा है। 2005 से 2015 तक दस साल में मध्यप्रेदश के 23 जिले, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र के 8 जिलों में बारिश का स्तर कम हुआ है।

- मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में मानसून का पैटर्न बदलता दिख रहा है। पंजाब के 7, झारखंड के 5 और गुजरात के 4 जिलों में भी बारिश का औसतन स्तर 50 से 500 मिमी से कम हुआ है। इन्हीं जिलों में इन 10 सालों में तापमान में 0.25 से 0.75 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी देखने में आई है।

घटती बारिश वाले जिले

- मध्यप्रदेश: टीकमगढ़, पन्ना, छतरपुर, सतना, रीवा, सीधी, सिंगरौली, शहडोल, उमरिया, अनूपपुर, डिंडोरी, मंडला, बालाघाट, कटनी, सागर, दामोह, भिंड, जबलपुर, मुरैना, ग्वालियर, दतिया, श्योपुर, शिवपुरी।
- छत्तीसगढ़: कोरिया, सरगुजा, जशपुर, बिलासपुर, कोरबा, रायगढ़, जांजगीर और कबीरधाम।
- गुजरात: वलसाड़, डांग, नवसारी, तापी।
- महाराष्ट्र: ठाणे, नाशिक, गोंदिया, भंडारा, चंद्रपुर, नांदेड़, हिंगोली, परभणी।
- पंजाब: गुरुदासपुर, अमृतसर, तरनतारण, फिरोजपुर, फरीदकोट, मुक्तसर, भटिंडा।
- झारखंड: गढ़वा, पलामू, लातेहर, गुमला, सिमडेगा।
- कर्नाटक: बीदर, गुलबर्गा।
- तेलंगाना: निजामाबाद, अदिलाबाद, मेडक, रंगारेड्डी।


यूपी और बिहार में सबसे ज्यादा असर

बीते 10 साल में बदलते मौसम का सबसे ज्यादा असर उत्तर प्रदेश और बिहार पर हुआ है। दोनों राज्यों में 2005 से 2015 के दौरान तापमान में 0.25 से 0.75 डिग्री सेल्सियस की बढ़ाेतरी हो गई है। इसी दशक में दोनों राज्यों में औसतन बारिश 150 से 500 मिमी कम दर्ज हो रही है।

बारिश के मुद्दे पर मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तरप्रदेश, केरल और नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में सबसे ज्यादा चिंता करने वाली स्थिति है। - फाइल बारिश के मुद्दे पर मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तरप्रदेश, केरल और नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में सबसे ज्यादा चिंता करने वाली स्थिति है। - फाइल
X
देश में मानसून का पैटर्न बदलता दिखाई दे रहा है। - सिम्बॉलिकदेश में मानसून का पैटर्न बदलता दिखाई दे रहा है। - सिम्बॉलिक
बारिश के मुद्दे पर मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तरप्रदेश, केरल और नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में सबसे ज्यादा चिंता करने वाली स्थिति है। - फाइलबारिश के मुद्दे पर मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तरप्रदेश, केरल और नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में सबसे ज्यादा चिंता करने वाली स्थिति है। - फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..