--Advertisement--

​नाम बदल कर रिलीज होगी मोदी के की फिल्म, पीएम कार्यालय से मांगी थी NOC

फिल्म ‘मोदी काका का गांव' आखिरकार शुक्रवार को देश भर के सिनेमा घरों में रिलीज होगी।

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 08:12 AM IST

मुंबई . फिल्म ‘मोदी काका का गांव' आखिरकार शुक्रवार को देश भर के सिनेमा घरों में रिलीज होगी। फिल्म का पहले नाम ‘मोदी का गांव' रखा गया था, जिसे बदलकर ‘मोदी काका का गांव' कर दिया गया है। फिल्म को कई वजहों से सेंसर प्रमाण पत्र दिए जाने से इनकार कर दिया गया था। अंतत: करीब 11 महीने बाद फिल्म रिलीज हो रही है। फिल्म प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकास के एजेंडे से प्रेरित है। फिल्म निर्माता को फिल्म रिलीज कराने के लिए इसका नाम बदलना पड़ा। फिल्म में मुख्य किरदार निभाने वाले विकास महांते का चेहरा प्रधानमंत्री मोदी से मिलता-जुलता है। मुंबई में रहने वाले महांते को चुनाव सभाओं में देखने के लिए भीड़ जुटती रही है। फिल्म का पहले नाम ‘मोदी का गांव’ रखा गया था। इस वजह से इस फिल्म को सेंसर बोर्ड ने प्रमाण पत्र दिए जाने से इनकार कर दिया था।

यहां रिलीज होगी फिल्म
- झा ने कहा कि पहले चरण में हिंदी फिल्म महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पूर्वी पंजाब व उत्तराखंड के 600 स्क्रीनों पर रिलीज होगी। इसके बाद देश के दूसरे भागों में रिलीज की जाएगी।

पीएम कार्यालय से मांगी थी एनओसी

- सेंसर बोर्ड के तत्कालीन अध्यक्ष पहलाज निहलानी ने इस फिल्म के निर्माता सुरेश झा से कहा था कि, फिल्म के सेंसर प्रमाण पत्र के लिए पहले प्रधानमंत्री कार्यालय से अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) लाए।

- झा ने दैनिक भास्कर को बताया- सेंसर बोर्ड से प्रमाण पत्र नहीं मिलने के बाद मैं फिल्म ट्रिब्यूनल में गया। ट्रिब्यूनल ने फिल्म के नाम में फेरबदल कर रिलीज करने की अनुमति दे दी।