--Advertisement--

शरद पवार बोले- अगर भुजबल की सेहत और बिगड़ी तो सरकार जिम्मेदार

मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर राकांपा प्रमुख शरद पवार ने की अच्छे इलाज की मांग

Danik Bhaskar | Mar 11, 2018, 07:35 AM IST

मुंबई. जेल में बंद पूर्व उपमुख्यमंत्री व राकांपा नेता छगन भुजबल की सेहत को लेकर राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को पत्र लिखा है। पवार ने भुजबल की सेहत को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए कहा है, यदि उन्हें उचित इलाज नहीं मिला और उनका स्वास्थ्य और बिगड़ा तो इसके लिए सरकार जिम्मेदार होगी।

- महाराष्ट्र सदन घोटाला और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों के चलते पिछले दो साल से जेल में बंद 72 वर्षीय भुजबल इन दिनों बीमार हैं। जेजे अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। पिछले दिनों विधान परिषद में कांग्रेस-राकांपा के विधायकों ने भुजबल का निजी अस्पताल में इलाज कराए जाने की मांग की थी। अब पवार ने सीधे मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है।

- अंग्रेजी में लिखे पत्र में कहा गया है कि पिछले कुछ दिनों से भुजबल के स्वास्थ्य को लेकर मुझे चिंता हो रही है। बीते 14 मार्च 2016 से वे जेल में हैं। इस बीच उनकी सेहत खराब होती जा रही है। यह न्यायालयीन मामला है।

- अदालत ने अभी तक भुजबल को लेकर कोई फैसला नहीं दिया है। जब तक अदालत का फैसला नहीं आता, भुजबल निर्दोष ही माने जाएंगे। ‘जमानत एक नियम है जबकि जेल अपवाद है’ यह नियम भुजबल के लिए भी लागू होता है। पर दुर्भाग्य से हर बार भुजबल की जमानत नामंजूर हो गई।

- छगन भुजबल ओबीसी नेता हैं। उन्होंने अपने जीवन के 50 साल सार्वजनिक जीवन के लिए समर्पित किए हैं। मुंबई के महापौर से लेकर पीडब्ल्यूडी मंत्री तक की जिम्मेदारी निभाई है। उन्होंने राज्य की जनता के लिए जो किया उसे भुलाया नहीं जा सकता।

यह भुजबल का संवैधानिक अधिकार भी है
- पवार ने अपने पत्र में कहा है, ‘मैं बस यह चाहता हूं कि भुजबल को उचित इलाज की सुविधा मिले। यह उनका संवैधानिक अधिकार भी है। मुझे विश्वास है कि भुजबल की बढ़ती उम्र और खराब सेहत को देखते हुए उनके इलाज के लिए उचित व्यवस्था की जाएगी।’

- अपने पत्र में पवार ने यह भी लिखा है, ‘ मुझे यह लिखते हुए दुख हो रहा, पर यदि योग्य उपचार के अभाव में भुजबल की सेहत खराब होती है तो इसके लिए आप की सरकार जिम्मेदार होगी।’