--Advertisement--

अर्थी पर पिता का शव, बेटा दे रहा था 10वीं की परीक्षा

पिता का सपना पूरा करने के लिए ही मैंने पहले परीक्षा देने का निर्णय लिया।

Dainik Bhaskar

Mar 23, 2018, 07:16 AM IST
son went to giving 10th board exam after death of father

अहेरी. पिता का सपना पूरा करने के लिए एक बेटे ने पिता की मृत्यु की खबर मिलने के बाद भी पहले परीक्षा देकर बाद में उनका अंतिम संस्कार करने का निर्णय लिया। अहेरी राजघराने के राजपुरोहित शिवकुमार पैडमारीवार को दो माह पूर्व पैरालिसिस हुआ था। उनका चंद्रपुर के एक निजी अस्पताल में उपचार चल रहा था।

- उनका बेटा ईश्वर आलापल्ली के ग्लोबल मीडिया केरला मॉडल इंग्लिश मीडियम स्कूल से कक्षा 10वीं की परीक्षा दे रहा है। 20 मार्च की रात शिवकुमार का उपचार के दौरान निधन हो गया।

- ईश्वर को उसकी मां और बड़ी बहन को डर था कि इस बारे में पता चलने पर ईश्वर परीक्षा नहीं देगा। इसलिए उन्होंने उसे इस बारे में कुछ नहीं बताया। बुधवार को भूगोल का पेपर था। परीक्षा के दौरान पिता की मृत्यु होने की जानकारी मिलने पर ईश्वर भावुक हो उठा। फिर भी उसने परीक्षा देने के बाद ही पिता का अंतिम संस्कार करने का निर्णय लिया।

- ईश्वर ने बताया कि, उसके पिता का सपना था कि, वह उच्च शिक्षा लेकर सफल व्यक्ति बने। इसके लिये परीक्षा देना जरूरी था। पिता का सपना पूरा करने के लिए ही मैंने पहले परीक्षा देने का निर्णय लिया।

X
son went to giving 10th board exam after death of father
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..