Hindi News »Maharashtra »Mumbai» Demand For Support Price Of Agricultural Produce

कृषि उपज के समर्थन मूल्य की मांग, मंत्रालय की छत पर चढ़ा युवक

स्वामीनाथन समिति की सिफारिशें लागू करने की मांग कर रहा था उस्मानाबाद का युवा किसान

Bhaskar News | Last Modified - Nov 11, 2017, 06:33 AM IST

  • कृषि उपज के समर्थन मूल्य की मांग, मंत्रालय की छत पर चढ़ा युवक
    +1और स्लाइड देखें
    मुंबई. फिल्म ‘शोले’ का वह दृश्य याद होगा जिसमे अपनी मांगे मनवाने के लिए बीरू पानी की टंकी पर चढ़ जाता है, वहां से कूद कर अपनी जान देने की धमकी देता है। कुछ ऐसा ही दृश्य शुक्रवार शाम मंत्रालय में दिखाई दिया। शाम करीब 3.45 बजे एक युवक मंत्रालय के विस्तारित इमारत की छत पर चढ़ गया। वहां से कूद कर जान देने की धमकी देने लगा। वह बार-बार कृषि मंत्री पांडुरंग फुंडकर से मिलने की मांग कर रहा था।

    करीब 2 घंटे की मशक्कत के बाद उसे नीचे उतारा जा सका। उस्मानाबाद का रहने वाला ज्ञानेश्वर (आनंद) सालवे नाम का यह किसान सोयाबीन को उचित भाव न मिलने से क्षुब्ध था। इस दौरान वह स्वामीनाथन समिति की सिफारिशें लागू करने की भी मांग कर रहा था। काफी मशक्कत के बाद युवक नीचे उतरा। उसके बाद शिक्षामंत्री तावड़े ने पत्रकारों को बताया-सालवे की कोई व्यक्तिगत मांग नहीं थी।

    वह सोयाबीन की खरीदारी के लिए समर्थन मूल्य और स्वामीनाथन समिति की सिफारिशों को लागू करने की मांग कर रहा था। तावड़े ने बताया कि हमनें उसे आश्वासन दिया कि, उसके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया जाएगा।
    समर्थन मूल्य न मिलने से आई ऐसी नौबत
    मंत्रालय में चले ड्रामे को लेकर विपक्ष भी सरकार पर हमलावर हो गया है। विधानसभा में विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखेपाटील ने कहा-कृषि उपज का उचित मूल्य न मिलने से किसानों में बेहद आक्रोश है। सरकार के नकारापन की वजह से किसानों को मंत्रालय तक आना पड़ रहा है।
    उन्होंने कहा- उस्मानाबाद के तुलजापुर का तरुण किसान ज्ञानेश्वर सालवे को अपनी मांगों को लेकर मंत्रालय की छत पर चढ़ना पड़ा। विखेपाटील ने कहा कि सोयाबीन का समर्थन मूल्य 3050 घोषित किया गया है पर किसानों के हाथ में मुश्किल से 2200 रुपए ही आ रहे हैं। पूरे राज्य में किसानों के साथ लूट मची है।
    जमा हो गई भीड़
    मंत्रालय के विस्तारित (पुरानी) इमारत की सातवीं मंजिल पर पहुंच कर कोई भी बड़े आराम से इमारत की छत पर पहुंच सकता है। इसी रास्ते सालवे भी छत पर पहुंच कर नीचे कूदने की धमकी देने लगा। उसकी आवाज सुनकर मंत्रालय में तैनात पुलिसकर्मी पहुंचे। देखते ही देखते वहां भारी भीड़ जुट गई। आपदा प्रबंधन और फायर ब्रिगेड के जवान भी जाल लेकर मौके पर पहुंच गए। उसने पहले मीडिया को बुलाने की मांग की तो मंत्रालय में मौजूद पत्रकार वहां पहुंच गए पर पत्रकारों को देखने के बाद सालवे कृषिमंत्री को बुलाने की बात कहने लगा। जबकि उस वक्त कृषि मंत्री फुंडकर मंत्रालय में मौजूद नहीं थे।
    इस बीच गृह राज्यमंत्री डॉ.रणजीत पाटील, शिक्षामंत्री विनोद तावड़े, डीसीपी मनोज शर्मा, गृह विभाग के प्रधान सचिव रजनीश सेठ आदि उससे बातचीत करने के लिए पहुंचे। युवक दिमागी रुप से काफी परेशान दिखाई दे रहा था। बार-बार अपनी मांगों को लेकर जोर-जोर से बोल रहा था। काफी मशक्कत के बाद वह छत से नीचे आने के लिए तैयार हुआ।
  • कृषि उपज के समर्थन मूल्य की मांग, मंत्रालय की छत पर चढ़ा युवक
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mumbai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×