Hindi News »Maharashtra »Mumbai» Padmavati Film May Be Released After Gujarat Elections

पद्मावती: गुजरात चुनाव के बाद रिलीज हो सकेगी फिल्म, 1 दिसंबर को मुश्किल

16 नवंबर को सबसे पहले ‘दैनिक भास्कर’ ने ‘सेंसर बोर्ड पहुंची पद्मावती’ शीर्षक से यह खबर प्रकाशित की थी।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 18, 2017, 06:21 AM IST

  • पद्मावती: गुजरात चुनाव के बाद रिलीज हो सकेगी फिल्म, 1 दिसंबर को मुश्किल
    +1और स्लाइड देखें

    मुंबई. देश के कई हिस्सों में हो रहे विरोध-प्रदर्शनों के बीच फिल्म पद्मावती की रिलीज टलती दिख रही है। केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) ने शुक्रवार को पद्मावती के सर्टिफिकेशन का आवेदन अधूरा बता निर्माता को लौटा दिया। बोर्ड ने इसके लिए तकनीकी कारणों का हवाला दिया है। इस फिल्म को लेकर मचे बवाल के बीच फिल्म की प्रोडक्शन कंपनी वायाकॉम 18ने बीते शुक्रवार को फिल्म के सेंसर प्रमाणपत्र के लिए सीबीएफसी के पास ऑन-लाइन आवेदन किया था।

    - सेंसर बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि पद्मावती का आवेदन रद्द नहीं किया गया है। कुछ तकनीकी कारणों से उसे वापस किया गया है। प्रोडक्शन कंपनी उसे दुरुस्त कर फिर से हमारे पास भेज सकती है।

    - अधिकारी ने कहा, ‘हर रोज सीबीएफसी के पास आने वाले आवेदनों में से चार-पांच आवेदन तकनीकी कारणों से वापस किए जाते हैं।’

    - बीते 16 नवंबर को सबसे पहले ‘दैनिक भास्कर’ ने ‘सेंसर बोर्ड पहुंची पद्मावती’ शीर्षक से यह खबर प्रकाशित की थी।

    बोर्ड ने 68 दिन टाला फैसला

    - गौरतलब है कि इस फिल्म को आगामी 1 दिसंबर को रिलीज किया जाना है। पर सेंसर बोर्ड द्वारा आवेदन वापस किए जाने से समझा जा रहा है कि 1 दिसंबर को यह फिल्म रिलीज नहीं हो पाएगी।

    - इसी बीच, सूत्रों ने दावा किया कि बोर्ड ने फिल्म के सर्टिफिकेशन का फैसला 68 दिन तक टाल दिया है। नियमानुसार बोर्ड ऐसा कर सकता है।

    - सूत्रों के अनुसार, पद्मावती अब गुजरात चुनाव ( 9 व 14 दिसंबर) के बाद ही रिलीज हो सकेगी, क्योंकि गुजरात के राजपूत समाज ने भी इस फिल्म का जोरदार विरोध किया है। ऐसे में भाजपा इस फिल्म को लेकर अपना राजनीतिक नुकसान नहीं कराना चाहेगी।

    फिल्म से आपत्तिजनक दृश्य हटाने की मांग पर सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

    - पद्मावती से आपत्तिजनक दृश्य हटाने और निर्माता पर एफआईआर दर्ज करने की मांग को लेकर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई।

    - चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली बेंच इस पर सुनवाई करने को सहमत हो गई है। हालांकि, कोर्ट ने इस पर तत्काल सुनवाई से इनकार कर दिया।

    फिल्म के निर्माता-निर्देशक संजय लीला भंसाली को चाहिए कि वह फिल्म का विरोध कर रहे सभी लोगों को बुलाएं और उन्हें फिल्म दिखा कर उसके विवादित अंश को हटा दें। पहले भी कई फिल्मों के साथ विवाद होने पर इस तरह के कदम उठाए गए हैं।
    -दीपक केसरकर, गृह राज्यमंत्री महाराष्ट्र

  • पद्मावती: गुजरात चुनाव के बाद रिलीज हो सकेगी फिल्म, 1 दिसंबर को मुश्किल
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mumbai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×