Hindi News »Maharashtra »Mumbai» Sharad Pawar Targets Modi Government Over Bofors Scandal

शरद पवार ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, बोफोर्स जैसे पुराने मामले की फाइलें अब खुलवाना गलत

कहा- पूर्व पीएम राजीव गांधी को अदालत पहले ही कर चुकी है बरी।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 18, 2017, 06:31 AM IST

  • शरद पवार ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, बोफोर्स जैसे पुराने मामले की फाइलें अब खुलवाना गलत
    +1और स्लाइड देखें

    यवतमाल. राकांपा प्रमुख शरद पवार ने कहा कि केंद्र सरकार को बोफोर्स जैसा पुराना मामला नहीं उठाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस मामले में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को अदालत ने बहुत पहले ही बरी कर दिया है। वे अब जीवित भी नहीं हैं, और न ही वह इतालवी शख्स जिंदा है, जो कथित तौर पर इस मामले में बतौर दलाल शामिल था। इसके बावजूद केंद्र का कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करके इस केस को दोबारा खुलवाना गलत है। सीबीआई सरकार के इशारे पर काम कर रही है।

    पवार शुक्रवार को राकांपा जिला कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। पवार ने देश की आर्थिक स्थिति को लेकर भी केंद्र सरकार पर निशाना साधा। कहा कि देश की वित्तीय हालत जर्जर हो चुकी है। किसान, व्यापारी, उद्योगपति सब परेशान हैं। कर्मचारियों की छंटनी की जा रही है। लोगों के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है। संवाददाता सम्मेलन में राकांपा के पूर्व मंत्री, विधायक, आदि उपस्थित थे।

    कीटनाशकों से मौत मामले की हो जांच

    पवार ने कहा कि कीटनाशकों से किसानों व मजदूरों की मौत बेहद गंभीर मामला है। इसकी गहराई से जांच करने की जरूरत है, क्योंकि बीटी बीज व कीटकनाशकों को सरकार ने मंजूरी दी थी। लिहाजा किसानों को होने वाले नुकसान की जिम्मेदारी भी सरकार की है। उन्होंने कहा कि कोई भी बीज या कीटकनाशक को मंजूरी देने से पहले उनका कई बार परीक्षण किया जाता है। लिहाजा उन्होंने मौजूदा बीटी बीज का परीक्षण करने वालों की जांच की भी मांग की। पवार के मुताबिक यदि बीजों का परीक्षण ठीक ढंग से होता तो किसानों की मौत नहीं होती व कपास पर इल्लियों का प्रकोप भी इतना ज्यदा नहीं होता।

    किसानों की समस्याओं को लेकर गडकरी को दिए सुझाव
    राकांपा प्रमुख ने यह भी स्पष्ट किया कि वे अपने पक्ष की मजबूती के लिए नहीं, बल्कि दुख की घड़ी में किसानों को ढांढस बंधाने आए हैं। कहा कि किसानों की मौजूदा समस्याओं को लेकर उनकी नागपुर में केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी से बात हुई थी। इस बारें में उन्हें नए बीज लाने, किसानों के लिए जनजागृति व मार्गदर्शन शिविर तथा परिसंवाद कार्यक्रमों के आयोजन का सुझाव दिया है।

    शीतसत्र के पहले दिन यवतमाल से नागपुर तक पार्टी निकालेगी पदयात्रा
    पवार ने कहा कि राज्य सरकार की कर्जमाफी योजना से किसानों को कुछ नहीं मिला। इसके विरोध में उनकी पार्टी 11 दिसंबर को शीतसत्र के पहले दिन विदर्भ में पदयात्रा निकालेगी। इस दिन पार्टी के विधायक व पदाधिकारी यवतमाल से नागपुर पदयात्रा कर पहुंचेंगे। इस दौरान किसानों के अधिकारों को लेकर सरकार से जवाब मांगा जाएगा।

  • शरद पवार ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, बोफोर्स जैसे पुराने मामले की फाइलें अब खुलवाना गलत
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mumbai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×