Hindi News »Maharashtra »Mumbai» Jobs In Banks Next Year

खुशखबरी : अगले साल बैंकों में मिलेंगी करीब एक लाख नौकरियां

ये नियुक्तियां क्लर्क-पीओ स्तर की हाेंगी जिनका शुरूआती वेतन 15-30 हजार रु. प्रतिमाह होता है।

Bhaskar News | Last Modified - Oct 26, 2014, 01:59 AM IST

  • मुंबई.सरकारी बैंकों में अगले वर्ष तक रिक्त पदों की संख्या दो लाख से अधिक होगी लेकिन नियुक्ति सिर्फ 65-70 हजार की होने की संभावना है। अगले वित्त वर्ष 25-30% अधिक जॉब आएंगे। निजी बैंकों को मिलाकर यह संख्या करीब एक लाख होगी। ये नियुक्तियां क्लर्क-पीओ स्तर की हाेंगी जिनका शुरूआती वेतन 15-30 हजार रु. प्रतिमाह होता है।
    प्राइवेट बैंकों में सबसे ज्यादा नौकरी
    2009 से 2013 के बीच बैंकों में सालाना 3.5 % की दर से नौकरी के अवसर बढ़े।
    8.7% प्राइवेट सेक्टर- (सबसे ज्यादा)
    2.3% पब्लिक सेक्टर
    -3.8% विदेशी बैंक
    विदेशी बैंकों में कम हो रहे हैं कर्मचारी
    विदेशी बैंकों में पिछले पांच साल में करीब 17% कर्मचारी कम हुए है। हालांकि, इसी दौरान पब्लिक सेक्टर के बैंकों में कर्मचारियों की संख्या करीब 10 फीसदी जबकि प्राइवेट बैंकों में 40% तक बढ़ गई।
    अगले वर्ष 25-30% अिधक नियुक्तियां
    सरकारी बैंकों में लगातार रिटायरमेंट होने और शाखा विस्तार के कारण आने वाले वित्त वर्ष में 25-30% ज्यादा नियुक्तियां होंगी। 2013-14 में करीब 50 हजार नियुक्तियां हुई थीं। यह ट्रेंड अगले कुछ वर्ष तक रहेगा। -एमवी टांकसाले, सीईओ इंडिया बैंक एसोसिएशन
    भरने चाहिए पूरे दो लाख पद
    सरकारी बैंकों में 16 साल तक तो नियुक्तियां ही नहीं हुईं। अगले वित्त वर्ष तक बैंक में कुल रिक्त पदों की संख्या दो लाख होगी। बैंकों को सभी रिक्त पद भरना चाहिए लेकिन आउट सोर्सिंग के कारण बैंक कम भर्ती कर रहे हैं। -सीएच वेंकटाचलम, सेक्रेटरी जनरल, एआईबीइए
    आगे की स्लाइड में देखें 11 लाख लोगों के लिए रोजगार का जरिया
  • आगे की स्लाइड में पढ़ें क्रेडिट ऑफ़ टेक
  • आगे की स्लाइड में पढ़ें नए ब्रांच और डिपाजिट के बारे में
  • आगे की स्लाइड में पढ़ें क्यों बेहतर है बैंकिंग सेक्टर में करियर बनाना
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mumbai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×