महाराष्ट्र / विधानसभा चुनावों के लिए भाजपा-शिवसेना का गठबंधन हुआ, जल्द आधिकारिक ऐलान संभव

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो
X
प्रतीकात्मक फोटोप्रतीकात्मक फोटो

  • महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होगा, जबकि 24 अक्टूबर परिणामों की घोषणा होगी

  • 2014 में भाजपा और शिवसेना, कांग्रेस और राकांपा अलग-अलग होकर विधानसभा चुनाव में उतरे थे

दैनिक भास्कर

Oct 01, 2019, 03:23 PM IST

मुंबई. महाराष्ट्र भाजपा के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने सोमवार शाम ऐलान किया कि विधानसभा चुनावों को लेकर भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना के बीच गठबंधन पर सहमती बन गई है। जल्द ही मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे सीटों के बंटवारे को लेकर इसका आधिकारिक ऐलान करने वाले हैं। 

 

 

विधानसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस-राकांपा के बीच पहले से गठबंधन हो चुका है। कांग्रेस ने रविवार को अपने 50 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट भी जारी कर दी है। 

 

 

महाराष्ट्र में किसके पास कितनी सीटें

महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होगा, जबकि 24 अक्टूबर परिणामों की घोषणा होगी। वर्तमान विधानसभा का कार्यकाल 9 नवंबर को खत्‍म होगा। फिलहाल 288 सदस्‍यीय महाराष्‍ट्र विधानसभा में भाजपा के 122, शिवसेना के 63, कांग्रेस के 42 और एनसीपी के 41 सदस्‍य हैं।

 

साल 2014 में अकेले लड़ी थी भाजपा-शिवसेना

भाजपा 2014 में 260 सीटों पर चुनाव लड़ी, वहीं शिवसेना ने 282 सीटों परअपने उम्मीदवार उतारे थे। हालांकि, शिवसेना की सिर्फ 19.35 फीसदी वोट मिले थे। कांग्रेस ने एनसीपी से अलग होकर 287 सीटों पर चुनाव लड़ा था। 

 

बालासाहब ठाकरे और प्रमोद महाजन ने बनाया था गठबंधन
महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना की राजनीतिक दोस्ती बाला साहब ठाकरे के समय की है। 1989 में महाराष्ट्र में कांग्रेस का राज खत्म करने के लिए दिवंगत भाजपा नेता प्रमोद महाजन और शिवसेना सुप्रीमो बालासाहेब ठाकरे ने साथ आकर भाजपा-शिवसेना का राजनीतिक गठबंधन बनाया था। इस गठबंधन को सन 1995 में पहली बार महाराष्ट्र की सत्ता मिली थी, जो ज्यादा समय तक नहीं टिक पाई। लेकिन दोनों दलों की दोस्ती तकरीबन 25 साल तक चली और बाला साहब के निधन के दो साल बाद सितंबर 2014 में दोनों पार्टियों का गठबंधन पहली बार टूटा। 

DBApp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना