--Advertisement--

महाराष्ट्र: पिकनिक पर जा रहे कर्मचारियों की बस 500 फीट गहरी खाई में गिरी, ड्राइवर समेत 33 की मौत

बस में सवार सिर्फ एक कर्मचारी जिंदा बचा। खाई से निकलकर रोड तक पहुंचा और पुलिस को फोन किया

Dainik Bhaskar

Jul 28, 2018, 10:24 PM IST
बस में ड्राइवर और कंडक्टर समेत 34 लोग मौजूद थे। बस में ड्राइवर और कंडक्टर समेत 34 लोग मौजूद थे।

  • कॉलेज के 40 कर्मचारी महाबलेश्वर जाने वाले थे, बस छोटी होने से सात नहीं गए

मुंबई. महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में शनिवार को एक निजी बस 500 फीट गहरी खाई में गिर गई। इस हादसे में ड्राइवर समेत 33 लोगों की मौत हो गई। बस में कोंकण कृषि विद्यापीठ के कर्मचारी सवार थे। इनमें से सिर्फ प्रकाश सावंत जिंदा बचे, जो वक्त रहते बस से कूद गए थे। सभी कर्मचारी दापोली से महाबलेश्वर पिकनिक मनाने जा रहे थे। हादसा अांबेनली घाट के पास घने जंगल वाले इलाके में हुआ।

एसपी अनिल पारस्कर ने बताया कि घटनास्थल पर मोबाइल नेटवर्क न होने की वजह से बचाव कार्य में दिक्कत आई। बस सुबह 10.30 बजे खाई में गिरी थी। पुलिस और प्रशासन को हादसे की सूचना करीब 12 बजे मिली। मारे गए लोगों की उम्र 30 से 45 साल थी। पुलिस और एनडीआरएफ की टीम शाम तक शवों को ऊपर ला पाई।

रोड पर कीचड़ और पत्थर थे : प्रकाश ने बताया कि बारिश की वजह से रोड पर काफी कीचड़ और पत्थर पड़े हुए थे। बस एक जगह अचानक ओर खाई में गिरने लगी। किसी को कुछ समझ नहीं आया। मैं वक्त रहते नीचे कूद गया और पेड़ की कुछ डालियां मेरे हाथ में आ गईं। किसी तरह ऊपर चढ़कर रोड तक पहुंचा। वहां भीड़ लगी हुई थी। एक व्यक्ति से मोबाइल लेकर पुलिस को कॉल किया।

अचानक वॉट्सऐप चैट आने बंद हो गए : कृषि कॉलेज में काम करने वाले प्रवीण रणदीव भी पिकनिक पर जाने वाले थे। पर तबीयत खराब होने की वजह से नहीं गए। उन्होंने बताया, ''मैं वॉट्सऐप ग्रुप में साथियों के द्वारा पोस्ट किए जा रहे फोटो और चैट देख रहा था। वे रास्ते में नाश्ता करने के लिए रुके थे। उन्होंने 9.30 बजे इसकी फोटो भी ग्रुप में पोस्ट की। करीब घंटेभर बाद मैंने इस पर कमेंट किया तो किसी ने कोई जवाब नहीं दिया। इसके बाद दोपहर करीब 12.30 बजे हादसे की सूचना मिली।''

हिमाचल में भी बस फिसली : यहां के कांगड़ा जिले में बस फिलकर 25 फीट गहरी खाई में गिर गई। एसपी संतोष पटेल ने बताया कि हादसा गल्लू मंगल इलाके में हुआ। इसमें 12 यात्री जख्मी हो गए। पुलिस ने सभी को अस्पताल में भर्ती कराया।

रायगढ़ हादसे पर प्रधानमंत्री ने दुख जताया

प्रशासन को हादसे की सूचना देर से मिली। प्रशासन को हादसे की सूचना देर से मिली।
शवों को ऊपर लाने में स्थानीय लोगों ने मदद की। शवों को ऊपर लाने में स्थानीय लोगों ने मदद की।
X
बस में ड्राइवर और कंडक्टर समेत 34 लोग मौजूद थे।बस में ड्राइवर और कंडक्टर समेत 34 लोग मौजूद थे।
प्रशासन को हादसे की सूचना देर से मिली।प्रशासन को हादसे की सूचना देर से मिली।
शवों को ऊपर लाने में स्थानीय लोगों ने मदद की।शवों को ऊपर लाने में स्थानीय लोगों ने मदद की।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..