महाराष्ट्र / संजय राउत से मिले कांग्रेस नेता हुसैन दलवाई, बोले-नहीं चाहते राज्य में हो भाजपा का मुख्यमंत्री

हुसैन दलवई-फाइल हुसैन दलवई-फाइल
X
हुसैन दलवई-फाइलहुसैन दलवई-फाइल

  • दोनों ने कांग्रेस किस तरह से शिवसेना का समर्थन कर सकती है इसपर चर्चा की
  • पवार ने अपनी स्थिति साफ कर दी है कि भाजपा और शिवसेना के पास जनता का जनादेश है

दैनिक भास्कर

Nov 06, 2019, 06:17 PM IST

मुंबई. बुधवार को जहां राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की ओर से पार्टी प्रमुख शरद पवार ने अपनी स्थिति साफ कर दी और कहा कि भाजपा और शिवसेना के पास जनता का जनादेश है, इसलिए वे विपक्ष में बैठने जा रहे हैं। वहीं राज्य कांग्रेस के कुछ नेता अभी भी उम्मीदें लगाकर बैठे हुए हैं।

 

इसी कड़ी में बुधवार को कांग्रेस के राज्यसभा सांसद हुसैन दलवई ने शिवसेना सांसद संजय राउत से मुलाकात की। दोनों ने तकरीबन एक घंटे चर्चा की। सूत्रों के मुताबिक, दोनों ने कांग्रेस किस तरह से शिवसेना का समर्थन कर सकती है इसपर चर्चा की।

 

नहीं चाहते भाजपा का मुख्यमंत्री
बैठक से बाहर निकलने के बाद दलवाई ने कहा, 'हम नहीं चाहते कि राज्य में भाजपा का मुख्यमंत्री हो। जनादेश भाजपा के लिए नहीं है।' उन्होंने आगे कहा कि शरद पवार और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी जल्द ही कोई निर्णय लेंगे। उन्होंने यह साफ कहा, 'किसी भी परिस्थिति में भाजपा की सरकार नहीं होगी।'

 

राज्य में राष्ट्रपति शासन नहीं लगने देंगे: दलवई
उन्होंने यह भी संकेत दिया कि कांग्रेस एनसीपी के साथ मिलकर शिवसेना को सत्ता में लाने में मदद करेगी। दलवाई ने कहा, 'हम महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन की अनुमति नहीं देंगे। हम बीजेपी सरकार को भी सत्ता में नहीं आने देंगे।' दलवई ने कहा कि शिवसेना भाजपा की तरह सांप्रदायिक नहीं रही है।

 

पवार से मिलीं कांग्रेस नेता यशोमति ठाकुर
बता दें कि कांग्रेस नेताओं का एक बड़ा वर्ग इस बात की वकालत करता रहा है कि पार्टी शिवसेना का समर्थन करती है, जबकि दिल्ली नेतृत्व उत्सुक नहीं है। बुधवार सुबह कांग्रेस नेता यशोमति ठाकुर ने राकांपा प्रमुख शरद पवार से मुलाकात की और जाहिर तौर पर फिर से एनसीपी के साथ सेना में शामिल होने के मुद्दे पर चर्चा की है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना