• Hindi News
  • Maharashtra
  • Mumbai
  • Controversy on 'today's aaj ke shivaji narendra modi' book, Sanjay Raut said no comparison with Chhatrapati, Congress leader lodged complaint

महाराष्ट्र / 'आज के शिवाजी नरेंद्र मोदी' किताब पर विवाद, संजय राउत बोले- छत्रपति से तुलना बर्दाश्त नहीं, 4 शहरों में हुए प्रदर्शन

शनिवार को दिल्ली भाजपा कार्यालय पर इस किताब का विमोचन हुआ।
X

  • कांग्रेस नेता अतुल सुधाकर ने कहा- प्रधानमंत्री मोदी की तुलना छत्रपति शिवाजी महाराज से करने पर उनकी धार्मिक भावना आहत हुई
  • राउत के बयान पर भाजपा नेता और सांसद संभाजी राजे ने कहा- 'मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, राउत की जुबान पर लगाम लगाइए

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2020, 04:32 PM IST

मुंबई. दिल्ली के भाजपा नेता जय भगवान गोयल की किताब 'आज के शिवाजी नरेंद्र मोदी' को लेकर महाराष्ट्र में सियासी घमासान शुरू हो गया है। पुस्तक में छत्रपति शिवाजी महाराज से प्रधानमंत्री की तुलना करने पर महाविकास आघाडी के तीनों दलों ने भाजपा पर हमले किए हैं। शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा- शिवाजी महाराज की तुलना विश्व में किसी से नहीं हो सकती। इस पुस्तक को लेकर महाराष्ट्र भाजपा को अपनी भूमिका स्पष्ट करनी चाहिए।'

संजय राउत ने शिवाजी महाराज के वंशज और भाजपा नेता उदयन राजे भोसले, विधायक शिवेंद्र राजे भोसले और राज्यसभा सदस्य संभाजी राजे से पूछा- क्या उन्हें इस तरह की तुलना स्वीकार है? वहीं, राकांपा नेता और मंत्री धनंजय मुंडे ने कहा कि भाजपा नेताओं ने इस पुस्तक ने मराठी अस्मिता को आहत किया है। इस पुस्तक का हाल ही में दिल्ली स्थित भाजपा के कार्यालय में लोकार्पण किया गया था।

महाराष्ट्र के कई शहरों में प्रदर्शन 
इस किताब के विरोध में महाराष्ट्र के अलग-अलग शहरों में प्रदर्शन हो रहे हैं। नागपुर, नासिक और पुणे में राकांपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जबकि सोलापुर में संभाजी ब्रिगेड के कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री मोदी और भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ प्रदर्शन किया।  तीन शहरों में किताब के पोस्टर को आग के हवाले किया गया।

कांग्रेस नेता ने दर्ज करवाई शिकायत
कांग्रेस नेता अतुल सुधाकर लोंढे ने नागपुर के नंदनवन थाने में शिकायत पत्र दिया और इस पुस्तक पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। उन्होंने आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना छत्रपति शिवाजी महाराज से करने पर उनकी धार्मिक भावना आहत हुई हैं। छत्रपति शिवाजी महाराज करोड़ों शिव प्रेमियों के आराध्य देव हैं, ऐसे में उनकी तुलना प्रधानमंत्री मोदी या अन्य किसी से करना हमारी भावनाओं को ठेस पहुंचाना है। इस पुस्तक के लेखक जयभगवान गोयल, प्रकाशक और विमोचक के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।


जानकारी लेकर ही बोलें राऊत: संभाजी राजे
राउत के बयान पर भाजपा नेता और सांसद संभाजी राजे ने कहा- 'मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरेजी, राउत की जुबान पर लगाम लगाइए। उन्हें जानकारी लेकर ही ऐसे मामलों में बोलना चाहिए। मैंने सिंदखेड राजा में कहा है कि शिवाजी महाराज से किसी की भी तुलना नहीं की जा सकती। भाजपा को यह पुस्तक वापस लेना चाहिए, वरना इसके परिणाम ठीक नहीं होंगे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना