--Advertisement--

मीता चौरसिया, रेणुका यादव और अदिति चौरसिया को डीबी डिजिटल का वूमन प्राइड अवार्ड

गुरुवार को मुंबई में आयोजित एक समारोह में जूरी मेंबर सुनील शेट्टी और रवीना टंडन ने ये अवार्ड प्रदान किए।

Danik Bhaskar | Apr 13, 2018, 07:05 PM IST
भोपाल की मीता चौरसिया को वूमन प्राइड अवार्ड देते जूरी मेंबर रवीना टंडन और सुनील शेट्टी। भोपाल की मीता चौरसिया को वूमन प्राइड अवार्ड देते जूरी मेंबर रवीना टंडन और सुनील शेट्टी।

मुंबई। दैनिक भास्कर समूह की डिजिटल विंग ‘डीबी डिजिटल’ का पांचवां वूमन प्राइड अवार्ड (WPA 2018) भोपाल की मीता चौरसिया, अलवर की रेणुका यादव और इंदौर की अदिति चौरसिया को दिया गया है। गुरुवार को मुंबई में आयोजित एक समारोह में जूरी मेंबर सुनील शेट्टी और रवीना टंडन ने ये अवार्ड प्रदान किए।

यह अवार्ड हमारी डेली लाइफ में महिलाओं के योगदान को सम्मान देने के लिए दिया जाता है। इस साल अवार्ड की थीम थी- हौसले की उड़ान को सलाम, क्या आप भी हैं इनके जैसी डिफरेंट? इस मौके पर सुनील शेट्टी और रवीना टंडन ने कहा कि आज हर फील्ड में महिलाएं आगे आ रही हैं और दुनियाभर में नाम कमा रही हैं। अगर हमें महिलाओं को सही मायने में एम्पॉवर करना है तो उनकी डिफरेंट और प्रोग्रेसिव सोच को सम्मानित करना होगा। इस मौके पर डीबी डिजिटल के सीईओ ज्ञान गुप्ता भी उपस्थित थे। INOX इस अवार्ड का एक्सक्लूसिव मल्टीप्लेक्स पार्टनर था।


मीता चौरसिया, भोपाल :
भोपाल की मीता चौरसिया मूलत: विज्ञान की शिक्षिका हैं। उन्होंने आम जिंदगी और खासकर स्टूडेंट्स को विज्ञान से जोड़ने की दिशा में काफी काम किया है। इसके लिए उन्होंने ‘साइंस ऑफ व्हील्स’ नाम से एक मिशन शुरू किया। वे खुद अपनी स्कूल से छुट्टी लेकर कई स्कूलों में जाती हैं। वहां स्टूडेंट्स को एक्सपेरिमेंट्स के जरिए विज्ञान समझाती हैं। उनका कहना है कि संतुलित जीवन जीने में विज्ञान काफी मदद कर सकता है। वे ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों के लिए डीडी भारती के जरिए एक्टिविटी बेस्ड टीचिंग सेशन लेती हैं। इसके अलावा मीता चौरसिया समर वैकेशन में ‘फन विद साइंस’ सेशन भी आयोजित करती हैं।

आगे की स्लाइड्स में जानिए अन्य विनर्स के बारे में....

इंदौर की अदिति चौरसिया को वूमन प्राइड अवार्ड देते रवीना टंडन और सुनील शेट्टी। इंदौर की अदिति चौरसिया को वूमन प्राइड अवार्ड देते रवीना टंडन और सुनील शेट्टी।

अदिति चौरसिया, इंदौर :

इंदौर की अदिति चौरसिया ने साल 2014 में अपना स्टार्टअप ‘EngineerBabu’ शुरू किया था। अदिति की शुरुआती पढ़ाई छतरपुर जिले के छोटे-से कस्बे गड़ही महेलरा से हुई जहां लोग अपनी बेटियों को पढ़ाना भी पसंद नहीं करते थे। ऐसे में वे अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सकें, इसके लिए उन्हें परिवार को मनाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। उन पर सामाजिक दबाव इतना था कि वे लोगों से छिपकर काम करती थीं। अदिति कहती हैं कि समाज को यह प्रूव करने के लिए कि लड़कियां भी बिजनेस कर सकती हैं, मैंने रात-दिन एक कर दिया। साल 2014 के समय मेरी टीम में केवल दो मेंबर थे। आज 40 लोगों की टीम है। अदिति को कई अवार्ड मिल चुके हैं। उन्हें कई सेमिनार और वर्कशॉप में भी बुलाया जा चुका है। 

 

 

 

अलवर की रेणुका यादव को वूमन प्राइड अवार्ड देते रवीना टंडन और सुनील शेट्टी। अलवर की रेणुका यादव को वूमन प्राइड अवार्ड देते रवीना टंडन और सुनील शेट्टी।

रेणुका यादव, अलवर : 

अलवर की रेणुका यादव एक सरकारी स्कूल में फिजिकल एजुकेशन टीचर हैं। वे पूरे राजस्थान की 4500 से भी अधिक लड़कियों को सेल्फ डिफेंस में ट्रेंड कर चुकी हैं। इसके अलावा वे 270 से भी अधिक महिला-पुरुष फिजिकल एजुकेशन टीचर्स को सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंग प्रोग्राम में ट्रेनिंग दे चुकी हैं। इसके लिए उन्हें एक दर्जन से भी अधिक बार सम्मानित किया जा चुका है। रेणुका यादव बैडमिंटन की भी अच्छी खिलाड़ी और कोच हैं। वे 10 बार राजस्थान की बैडमिंटन कोच के रूप में नेशनल गेम्स में हिस्सा ले चुकी हैं।