महाराष्ट्र / फडणवीस का सत्ता में आने का उतावलापन महाराष्ट्र भाजपा को ले डूबा: शिवसेना सांसद राउत

शिवसेना सांसद संजय राउत और महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस।- फाइल शिवसेना सांसद संजय राउत और महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस।- फाइल
X
शिवसेना सांसद संजय राउत और महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस।- फाइलशिवसेना सांसद संजय राउत और महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस।- फाइल

  • शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' में कॉलम 'रोकटोक' में राउत ने कसा पूर्व सीएम फडणवीस पर तंज
  • राउत ने यह भी लिखा- केंद्रीय नेताओं के आसरे ने उनकी (फडणवीस) की राजनीति को खत्म कर दिया

Dainik Bhaskar

Dec 01, 2019, 03:55 PM IST

मुंबई. शिवेसना सांसद संजय राउत ने महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' में कॉलम 'रोकटोक' में लिखा कि फडणवीस का उतावलापन और "बचकाने बयान" राज्य में भाजपा को ले डूबी। उन्होंने लिखा कि फडणवीस का अति आत्मविश्वास और केंद्रीय नेताओं के आसरे ने उनकी राजनीति खत्म कर दी।

ये भी पढ़े

 राउत ने लिखा- विधानसभा चुनाव के दौरान फडणवीस ने कहा था कि वे सत्ता में वापसी करेंगे। लेकिन उनके उतावलेपन ने भाजपा को 80 घंटे में ही डूबो दिया। पिछले महीने राज्य में जो कुछ हुआ वह फिल्म 'सिंहासन' फिल्म की पटकथा जैसी लगती है। राउत ने जिस 'सिंहासन' फिल्म का उदाहरण दिया। वह साल 1979 की मराठी फिल्म है।

'अजित की बैचेनी, शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस को नजदीक ले आई'
राउत ने भाजपा के शीर्ष नेताओं का नाम लिए बिना लेख में लिखा कि- महाराष्ट्र "भीड़ तंत्र" के सामने नहीं झुकेगा, जैसे की दिल्ली की सत्ता को चलाया जा रहा है। उन्होंने इस बात पर भी भरोसा जताया कि शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस की गठबंधन सरकार पूरे 5 साल शासन करेगी। उन्होंने लिखा- भाजपा को समर्थन देने की अजित पवार की बेचैनी शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस को और नजदीक ले आई।

उन्होंने यह भी लिखा कि जो लोग अजित पवार के फडणवीस के साथ गठजोड़ को शरद पवार की ही साजिश बता रहे थे, वह अब महाविकास आघाड़ी सरकार बनने के बाद राकांपा प्रमुख के आगे सिर झुका रहे हैं। राउत ने लेख में यह भी दावा किया कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, राकांपा प्रमुख शरद पवार और कांग्रेस नेता सोनिया गांधी के साथ आने से महाराष्ट्र में जो हुआ वह देश को भी स्वीकार है।

राउत ने कहा- विधानसभा चुनाव से पहले फडणवीस बचकाने बयान दे रहे थे। जैसे राज्य में कोई भी विपक्षी पार्टी का अस्तित्व नहीं है। शरद पवार का समय खत्म हो चुका है। लेकिन, फडणवीस खुद ही अब विपक्ष के नेता बन गए हैं।

राज्यपाल ने नहीं निभाया वादा: राउत
शिवसेना सांसद ने कहा कि महाराष्ट्र राज्यपाल के कार्यालय ने फडणवीस और राकांपा नेता अजित पवार की 80 घंटे की सरकार में खलनायक (विलेन) की भूमिका निभाई। राउत ने यह भी कहा कि  राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने एक बार मुझसे कहा था कि वह जो भी करेंगे, संविधान के अनुरुप ही करेंगे। लेकिन बाद में उन्होंने जल्दबाजी में फडणवीस और अजित पवार को शपथ दिला दी।

DBApp
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना