पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सिर्फ 8 दिन में बना डाली नकली सैनिटाइजर बनाने की फैक्ट्री, कई लाख का माल बरामद

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सैनिटाइजर की इस फैक्ट्री से कई लाख का सामान बरामद हुआ है। - Dainik Bhaskar
सैनिटाइजर की इस फैक्ट्री से कई लाख का सामान बरामद हुआ है।
  • मुंबई में संस्कार आयुर्वेद नाम की कंपनी पर छापा डालकर भारी मात्रा में नकली सैनिटाइजर बरामद किया गया
  • शुरुआती जांच में पता चला कि सिर्फ पानी और केमिकल मिलाकर बनाया जा रहा था यहां नकली सैनिटाइजर

मुंबई. एक तरफ देश में कोरोना संक्रमण के मामलों की संख्या लगातार बढ़ रही है। वहीं, दूसरी तरफ इसके डर का फायदा उठाने वालों की कमी नहीं है। गुरुवार को मुंबई के वाकोला में पुलिस ने नकली सैनिटाइजर बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। जांच में सामने आया कि सैनिटाइजर बनाने वाली संस्कार आयुर्वेद नाम की यह फैक्ट्री सिर्फ 8 दिन पहले खुली थी। इस मामले में 4 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। 

उत्पाद पर न लाइसेंस, न बैच नंबर; एफडीए ने छापा मार किया खुलासा
मुंबई फूड एंड ड्रग्स डिपार्टमेंट (एफडीए) ने वकोला इलाके स्थित संस्कार आर्युवेद नाम की फैक्ट्री में छापा मार कार्रवाई करते हुए मौके से भारी मात्रा में नकली सैनिटाइजर बरामद किया है। एफडीए के निरीक्षक धनंजय जाधव ने कहा, " यह कंपनी बिना अनुमति के सैनिटाइजर बना रही थी। यह कंपनी फर्जी तरीके से 8 दिन पहले बनाई गई। कंपनी की फैक्ट्री में जो सैनिटाइजर के बॉटल मिले हैं, उन पर लाइसेंस नंबर, बैच नंबर भी अंकित नहीं किये गए।" एफडीए की जांच में सामने आया है कि कंपनी नकली सैनिटाइजर 'मेड इन वकोला' नाम से बेच रहे थे। 

सिर्फ पानी और केमिकल मिलाकर बना रहे थे सैनिटाइजर 
इन नकली सैनिटाइजर को बाजार में 105 से लेकर 190 रुपए तक में बेचा जा रहा था। इसमें पानी और खराब गुणवत्ता के कच्चे माल का इस्तेमाल किया गया था। चिंता की बात यह है कि बगैर किसी भी तरह की जांच पड़ताल के मेडिकल स्टोर धड़ल्ले से ग्राहकों को ये नकली सैनिटाइजर बेच रहे हैं।