मुंबई / एजाज लकड़ावाला का खुलासा-1998 में छोटा राजन ने दाऊद को मारने की साजिश रची थी

गैंगस्टर छोटा राजन(बाएं) और एजाज लकड़ावाला(दाएं) कभी बेहद करीब थे। गैंगस्टर छोटा राजन(बाएं) और एजाज लकड़ावाला(दाएं) कभी बेहद करीब थे।
अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम 1993 बम धमाके के बाद से देश से फरार है-फाइल फोटो अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम 1993 बम धमाके के बाद से देश से फरार है-फाइल फोटो
X
गैंगस्टर छोटा राजन(बाएं) और एजाज लकड़ावाला(दाएं) कभी बेहद करीब थे।गैंगस्टर छोटा राजन(बाएं) और एजाज लकड़ावाला(दाएं) कभी बेहद करीब थे।
अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम 1993 बम धमाके के बाद से देश से फरार है-फाइल फोटोअंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम 1993 बम धमाके के बाद से देश से फरार है-फाइल फोटो

  • 8 जनवरी को गैंगस्टर एजाज लकड़ावाला को मुंबई पुलिस ने पटना से पकड़ा था, वह 22 साल से फरार था
  • एजाज मुंबई पुलिस की कस्टडी में है और पूछताछ में उसने अंडरवर्ल्ड गैंग से जुड़े कई अहम खुलासे किए

दैनिक भास्कर

Feb 24, 2020, 02:53 PM IST

मुंबई. गैंगस्टर एजाज लकड़ावाला ने मुंबई पुलिस की पूछताछ में खुलासा किया है कि छोटा राजन ने 1998 में भगोड़े अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम को मार डालने की साजिश रची थी। हालांकि वह फेल हो गई। पिछले महीने 9जनवरी को गैंगस्टर एजाज लकड़ावाला पटना से पकड़ा गया था। मुंबई पुलिस ने पटना पुलिस की मदद से उसे दरभंगा जाते वक्त पकड़ा था। पकड़े जाने के बाद से एजाज मुंबई पुलिस की कस्टडी में है और हर दिन नए खुलासा कर रहा है।

कराची में बनाई थी हत्या की साजिश
पुलिस सूत्रों ने बताया कि एजाज ने पूछताछ में बताया कि साल 1998 में वह छोटा राजन के राइटहैंड विक्की मल्होत्रा की 10 लोगों की टीम का हिस्सा था। इस टीम में फरीद तनाशा, बालू डोकरे, विनोट मटकर, संजय घाटे और बाबा रेड्डी थे। इस टीम ने दाऊद की हत्या के लिए कराची की एक दरगाह के बाहर कई दिनों तक इंतजार किया था।

एजाज ने बताया कि दाऊद की बेटी मारिया की मौत के बाद छोटा राजन ने उसे रास्ते से हटाने का प्लान तैयार किया। इसके लिए विक्की मल्होत्रा के नेतृत्व में शूटरों की एक टीम ने कराची की उस दरगाह के बाहर दाऊद का इंतजार किया। यहां दाऊद अपनी बेटी की कब्र पर आने वाला था।

ऐसे फेल हई थी दाऊद की हत्या की साजिश
लकड़ावाला के अनुसार मिर्जा दिलशाद बेग ने आखिरी वक्त में इसकी जानकारी दाऊद को दे दी और यह प्लान फेल हो गया। मिर्जा नेपाल का सांसद और दाऊद का करीबी सहयोगी था। बकौल एजाज, इससे छोटा राजन इतना नाराज हुआ कि उसी साल मिर्जा को मार गिराया गया।

कभी छोटा राजन का बेहद करीबी था लकड़ावाला
कभी दाऊद गिरोह का सदस्य रहा एजाज बाद में छोटा राजन के गैंग में शामिल हो गया था। बाद में पैसे के बंटवारे को लेकर छोटा राजन से मतभेद होने के बाद उसने अपना अलग गिरोह बना लिया और नीदरलैंड में रहकर ड्रग तस्करी का धंधा चला रहा था। लकड़ावाला ने मुंबई पुलिस को यह भी बताया है कि दाऊद की थाइलैंड और बांग्लादेश में भी अच्छी पकड़ है। इन दोनों देशों के जरिए वह भारत, यूरोप और अन्य देशों में ड्रग भेजता है। खुफिया एजेंसियों ने जानकारी दी है कि एजाज़ की जेल में हत्या की दाऊद साजिश रच रहा है। इसके कारण डी-गैंग से जुड़े खुलासे हैं।

पुलिस को दाऊद के दो घरों का पता भी बताया
एजाज़ ने मोस्टवांटेड दाऊद इब्राहिम के पाकिस्तान के कराची में दो घरों का पता भी बताया है। मुंबई पुलिस की अपराध शाखा के शीर्ष अधिकारियों ने मुताबिक दाऊद के एक घर का पता 6ए, खायाबन तंजीम फेज-5, डिफेंस हाउसिंग एरिया, कराची और दूसरे घर का पता डी-13, ब्लॉक-4, क्लिफ्टॉन, कराची है। दाऊद का भाई अनीस इब्राहिम और उसका खास छोटा शकील भी डिफेंस हाउसिंग एरिया में ही रहते हैं।

ताबीज ने लकड़ावाला की बचाई थी जान
2002 बैंकॉक के व्यस्त मार्केट में लकड़ावाला पर जानलेवा हमला किया गया था। उसने दावा किया कि एक ताबीज ने उसे बचा लिया तह। छोटा शकील के शूटर ने उसके सीने पर छह गोलियां दागी गईं। यह गोली उसके शरीर के पास से गुजरी थी। जबकि एक ताबीज में लगी थी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना