महाराष्ट्र / नासिक में तीन दिन में करीब 15 इंच बारिश, त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर में भी भरा पानी



X

  • नासिक में बारिश का सबसे ज्यादा असर त्र्यंबकेश्वर और इगतपुरी में नजर आया
  • बारिश से गोदावरी, नासर्डी-नंदिनी और गोमती नदियां उफान पर, निचले इलाकों में बाढ़ का खतरा

Dainik Bhaskar

Jul 11, 2019, 03:27 PM IST

नासिक. महाराष्ट्र के नासिक जिले में पिछले शनिवार से जमकर बारिश हो रही है। गुरुवार को भी बारिश का जारी है। बीते दिन दिनों में यहां 375 मिलीमीटर यानी करीब 15 इंच बारिश रिकॉर्ड की गई। लगातार बारिश के चलते जिले में नदी-नाले उफान पर हैं। बुधवार को भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग में से एक त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर में पानी भर गया था। 

 

बारिश का सबसे ज्यादा असर त्र्यंबकेश्वर और इगतपुरी में नजर आ रहा है। जोरदार बारिश के चलते यहां के अंजनेरी और ब्रह्मागिरी की पहाड़ियों से 22 से ज्यादा झरने एक साथ गिरने लगे। बारिश के कारण गोदावरी, नासर्डी-नंदिनी और गोमती नदियां उफान पर हैं। जिले में कई निचले इलाकों में घुटनों तक पानी बढ़ गया। इन जगहों पर बाढ़ का खतरा भी मंडरा रहा है।

 

पंचवटी इलाके में बाढ़ जैसी स्थिति

शहर के पंचवटी इलाके में कई घरों में पानी भर गया। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे नासिक जिले मे भारी बारिश की बात कही है। बारिश के कारण अहिल्या बांध और गंगासागर झील भी पानी से लबालब हो गए हैं। शहरी क्षेत्र में निकासी व्यवस्था ठीक न होने से सड़कों पर भी जगह-जगह पानी भर गया। 

 

पालघर में पुल टूटा

महाराष्ट्र के पालघर जिले में भारी बारिश के कारण गुरुवार को पुल का एक बड़ा हिस्सा बह गया। जिला आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के प्रमुख विवेकानंद कदम ने बताया कि हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि पुल मोखंडा तालुका के मोरचंडी गांव में एक छोटी नदी पर बना था। पुल के दोनों ओर वाहनों की आवाजाही रोक दी गई है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना