Hindi News »Maharashtra »Mumbai» IPS Himanshu Rai Commit Suicide

इस IPS को मिली थी जेड प्लस सुरक्षा, गोली मारकर की सुसाइड

दाऊद की संपत्ति जब्त कराने वाले दबंग अफसर हिमांशु राॅय कैंसर से हारे,

Bhaskar News | Last Modified - May 12, 2018, 12:01 PM IST

  • इस IPS को मिली थी जेड प्लस सुरक्षा, गोली मारकर की सुसाइड
    +1और स्लाइड देखें
    दाऊद की संपत्ति जब्त कराने वाले दबंग IPS

    मुुंबई.महाराष्ट्र के पूर्व एटीएस प्रमुख हिमांशु राॅय ने शुक्रवार को आत्महत्या कर ली। राॅय ने मुंबई के नरीमन प्वाइंट के अपने घर में सर्विस रिवॉल्वर से खुद को गोली मार ली। घटना के समय घर पर मौजूद उनकी पत्नी भावना और बॉडीगार्ड उन्हें बाॅम्बे अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उनके करीबी सूत्रों के अनुसार बीमारी के कारण वह डिप्रेशन में थे। वह अपनी फिटनेस पर काफी ध्यान देते थे, लेकिन तीन साल से ब्लड कैंसर से पीड़ित थे। आतंकवाद से जुड़े कई केस सुलझाए थे...

    2013 के आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में हिमांशु ने ही बिंदु दारा सिंह को गिरफ्तार किया था। दाऊद इब्राहिम की संपत्ति को जब्त कराने के अभियान में उनकी प्रमुख भूमिका थी।

    पुलिस के अनुसार कैंसर के इलाज के लिए वे 2016 से ही छुट्टी पर थे। उनके घर से सुसाइड नोट मिला है। इसमें उन्होंने लिखा है कि कैंसर की वजह से वे यह कदम उठा रहे हैं। उनकी आत्महत्या के लिए किसी को जिम्मेदार न माना जाए। आगामी 23 जून को उनका 56वां जन्मदिन आने वाला था। उनके परिवार में पत्नी भावना और उनकी मां हैं। मुंबई पुलिस में ज्वाइंट कमिश्नर (क्राइम) रहे एडीजी रैंक के अधिकारी हिमांशु राय को सख्त अफसर के तौर पर जाना जाता था। 1988 बैच के आईपीएस अधिकारी राय मुंबई के ही रहने वाले थे। उन्होंने यहां के सेंट जेवियर्स कॉलेज से पढ़ाई की थी। वे 1995 में नासिक के सबसे युवा एसपी बने थे।

    अभिनेत्री मीनाक्षी थापा हत्या मामले की जांच की थी, खुदकुशी के दिन ही दो आरोपियों को उम्रकैद की सजा हुई

    मुंबई की एक सेशन कोर्ट ने 2012 में अभिनेत्री मीनाक्षी थापा की हत्या के मामले में दोषी अमित जायसवाल और उसकी प्रेमिका प्रीति सुरिन को उम्रकैद की सजा सुनाई है। इसे संयोग ही कहेंगे कि 12 मार्च 2012 में हुई थापा की हत्या के इस मामले के समय हिमांशु राय मुंबई पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर (क्राइम) थे और उन्हीं की निगरानी में इस मामले की जांच हुई थी। यूपी के रहने वाले अमित और प्रीति ने फिरौती के लिए थापा के अपहरण की साजिश रची थी। फिरौती नहीं मिलने पर देहरादून में मीनाक्षी थापा को गला घोंटकर मार डाला था।

    जब उन्हें अस्पताल में लाया गया तो उनकी मृत्यु हो चुकी थी। उनका शरीर काफी दुबला हो गया था। उन्होंने अपने मुंह के अंदर गोली मारी। गोली उनके सिर के दाईं ओर छेद करते हुए निकल गई थी। - डॉ. गौतम भंसाली, कंसल्टेंट फिजिशियन, बॉम्बे हॉस्पिटल (हिमांशु राय को मृत घोषित करने वाले डॉक्टर)

    आतंकवाद से जुड़े कई केस सुलझाए थे

    दाऊद के भाई इकबाल कासकर के ड्राइवर आरिफ के एनकाउंटर, पत्रकार जेडे हत्या प्रकरण, लैला खान एवं लॉ ग्रेजुएट पल्लवी पुरकायस्थ डबल मर्डर केस जैसे मामलों की जांच को उन्होंने अंजाम तक पहुंचाया था। पाकिस्तान मूल के अमेरिका में जन्मे लश्कर-ए-तैयबा आतंकी डेविड हेडली के मामले की जांच करने वाली टीम में भी वे शामिल थे। एटीएस प्रमुख के उनके कार्यकाल में ही सॉफ्टवेयर इंजीनियर अनीस अंसारी को बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स में अमेरिकन स्कूल में धमाके की साजिश में गिरफ्तार किया गया था। आईएस में शामिल होने जा रहे अरीब मजीद को वापस लाने में भी उनकी प्रमुख भूमिका थी। बता दें कि हिमांशु राय और राकेश मारिया को साल 2014 में जेड प्लस सुरक्षा मिली थी।

  • इस IPS को मिली थी जेड प्लस सुरक्षा, गोली मारकर की सुसाइड
    +1और स्लाइड देखें
    हिमांशु रॉय
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mumbai

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×