मुंबई / कोहिनूर जमीन मामले में राज ठाकरे से पूछताछ करेगी ईडी; नोटिस जारी किया



Maharashtra Leader Raj Thackeray Summoned Over Probe Into IL&FS Crisis
X
Maharashtra Leader Raj Thackeray Summoned Over Probe Into IL&FS Crisis

  • ईडी ने पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर जोशी के बेटे उन्मेष जोशी को भी सोमवार को पूछताछ के लिए बुलाया
  • राज ठाकरे से 22 अगस्त को पूछताछ होने की संभावना

Dainik Bhaskar

Aug 19, 2019, 12:10 PM IST

मुंबई. कोहिनूर इमारत के निर्माण मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के अध्यक्ष राज ठाकरे को नोटिस जारी किया है। संभव है कि इस मामले में उनसे 22 अगस्त को पूछताछ होगी। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और शिवसेना नेता मनोहर जोशी के बेटे उन्मेष जोशी सोमवार को इसी मामले में पूछताछ के लिए ईडी के दफ्तर में पहुंचे।

 

इस दौरान उन्होंने कहा,"मुझे एक नोटिस मिला है और मैं आज प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारियों से मिलने आया हूं। ईडी द्वारा मुझे कोई प्रश्नावली नहीं भेजी गई थी। मैं उनके साथ सहयोग करूंगा। यह कोहिनूर (कोहिनूर निर्माण मामले) के बारे में होना चाहिए।"

 

उन्मेष जोशी की कंपनी कोहिनूर सीटीएनएल के जरिए कोहिनूर मिल क्रमांक 3 की जमीन खरीदी गई थी। इस पर कोहिनूर स्क्वायर नाम की बहुमंजिला इमारत बनाई गई है। इंफ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंसियल सर्विसेज (आईएल एंड एफएस) नामक कंपनी ने कर्ज और इक्विटी के जरिए 860 करोड़ रुपए का निवेश किया था। कोहिनूर सीटीएनएल में राज ठाकरे और उनके पार्टनर राजन शिरोडकर की भी भागीदारी थी। 

 

421 करोड़ में हुआ इस जमीन का सौदा

कोहिनूर मिल की जमीन का सौदा 421 करोड़ रुपए में हुआ था। आईएल एंड एफएस समूह ने साल 2008 में कंपनी में 225 करोड़ रुपए निवेश किया था जिसके बदले उसे 50 फीसदी इक्विटी मिली थी। लेकिन, बाद में कंपनी ने घाटा दिखाते हुए उसी साल सिर्फ 90 करोड़ रुपए में अपनी सारी हिस्सेदारी बेच दी। इसके बाद राज ठाकरे भी अपनी हिस्सेदारी बेचकर कंपनी से अलग हो गए। वहीं कोहिनूर सीटीएनएल आईएल एंड एफएस से लिए गए कर्ज का भी भुगतान नहीं कर पाई जिसके बाद 2011 में 500 करोड़ के बकाया कर्ज की वसूली के लिए दोनों ने एक समझौता किया। जिसके मुताबिक आईएल एंड एफएस को इमारत की कुछ व्यावसायिक और रहिवासी निर्माणों को बेचने का अधिकार मिला।

 

इससे जुड़ा समझौता 2017 में हुआ। इसके बाद आईएल एंड एफएस ने एक बार फिर सीटीएनएल को 135 करोड़ रूपए कर्ज दिया जो वह वापस नहीं कर पाई। इसी मामले में ईडी ने उन्मेष जोशी और राज ठाकरे को बयान दर्ज करने के लिए समन भेजा है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना