पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाढ़ के हालात को देखते हुए 4 हजार रेजिडेंट डॉक्टरों ने स्थगित की अपनी हड़ताल

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • डॉक्टरों की मांग है कि स्टाइपेंड की राशि बढ़ाई जाए, साथ ही समय पर इसका भुगतान हो
  • स्टाइपेंड में इजाफा केंद्र सरकार के मेडिकल कॉलेज के बराबर हो

 

मुंबई. महाराष्ट्र में बाढ़ की विभीषिका को देखते हुए महाराष्ट्र रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिशन (एमएआरडी) ने आज से होने वाली अपनी संभावित हड़ताल को वापस ले लिया है। एमएआरडी का कहना है कि मानवीय आधार और जम्मू में धारा 370 के बाद खत्म होने के बाद बने हुए माहौल को देखते हुए अगली सूचना तक हमने आंदोलन को वापस लेने का फैसला किया है। 
 
इस हड़ताल में मुंबई समेत महाराष्ट्र के 16 मेडिकल कॉलेज के 4060 रेजिडेंट डॉक्टर शामिल थे। महाराष्ट्र एसोसिएशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स का कहना है कि महाराष्ट्र सरकार को कई बार शिकायतें देने के बावजूद उनकी मांगों पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। 
 

क्या है रेजिडेंट्स डाक्टर्स की मांगें

  • स्टाइपेंड की राशि बढ़ाई जाए, साथ ही समय पर इसका भुगतान हो
  • स्टाइपेंड में इजाफा केंद्र सरकार के मेडिकल कॉलेज के बराबर हो
  • मैटरनिटी आदि के लिए छुट्टियां दी जाएं
  • रेजिडेंट डॉक्टर्स का जीवनयापन का स्तर सुधारा जाए
  • रेजिडेंट डॉक्टर्स को पर्याप्त सुरक्षा और कामकाज का बेहतर माहौल दिया जाए
खबरें और भी हैं...