--Advertisement--

खुलासा / 30 हजार रुपए के लिए कर दी एचडीएफसी बैंक के वाइस प्रेसिडेंट सिद्धार्थ संघवी की हत्या



सिद्धार्थ संघवी (फाइल फोटो) सिद्धार्थ संघवी (फाइल फोटो)
  • 5 सितंबर को मुंबई के लोअर परेल स्थित कमला मिल्स कंपाउंड से लापता हो गए थे सिद्धार्थ संघवी
  • 6 सितंबर को सिद्धार्थ की कार नवी मुंबई में एक बिल्डिंग से बरामद हुई थी
Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 07:40 PM IST

मुंबई.  पुलिस ने एचडीएफसी बैक की मुंबई शाखा के वाइस प्रेसिडेंट सिद्धार्थ संघवी की हत्या की गुत्थी सुलझा ली। पुलिस ने सोमवार को कहा कि संघवी की हत्या सिर्फ 30 हजार रुपए की लूट के लिए की गई। पुलिस ने इस मामले में कमला मिल्स के पार्किंग बे में काम करने वाले सरफराज शेख उर्फ रईस को गिरफ्तार किया है। संघवी का आफिस कमला मिल्स में ही है। रईस की निशानदेही पर पुलिस ने सोमवार सुबह संघवी का शव कल्याण इलाके से बरामद किया।

 

30 हजार की ईएमआई के लिए हत्या

पुलिस पूछताछ में रईस ने बताया कि ईएमआई के 30 हजार रुपए देने के लिए उसे रुपयों की जरूरत थी। इसके लिए उसने संघवी को लूटने का प्रयास किया और इस दौरान हाथापाई होने पर उनकी हत्या कर दी। यह घटना पार्किंग बे में ही बुधवार शाम को हुई। इसके बाद रईस शव को अपनी कार में रखकर कल्याण में ले जाकर फेक आया।

 

पुलिस को उलझाने की कोशिश

कैब ड्राइवर रह चुके रईस ने पुलिस को उलझाने के लिए पहले यह कहा था कि एचडीएफसी में काम कर चुके कुछ लोगों ने प्रोफेशनल रंजिश में हत्या के लिए उसे पैसे दिए। वे संघवी के प्रमोशन से नाराज थे। संघवी बुधवार को लापता हो गए थे। इसके तीसरे दिन उनके पिता को फोन आया कि उनका बेटा सुरक्षित है और चिंता करने की जरूरत नहीं है। यह फोन रईस ने संघवी के फोन से किया था, हालांकि उसने सिम बदल दी थी। इसका लोकेेशन नवी मुंबई मिला था। 
 

--Advertisement--