मुंबई / अवैध बांग्लादेशियों के खिलाफ मनसे का आंदोलन, कई बस्तियों में घुसकर पूछताछ की और चेक किए आईकार्ड

मुंबई के बोरीवली इलाके में रहने वालों से पूछताछ करते मनसे कार्यकर्ता।
X

  • मनसे नेताओं ने कहा- अगर जरूरत पड़ी तो बांग्लादेशी नागरिकों को मुंबई से भगाने के लिए पुलिस की सहायता भी लेंगे
  • महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कार्यकर्ताओं ने मुंबई और ठाणे जिले में शुक्रवार को भी इसी तरह का प्रदर्शन किया है

दैनिक भास्कर

Feb 14, 2020, 03:11 PM IST

मुंबई. महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के कार्यकर्ताओं ने मुंबई में अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशी नागरिकों के खिलाफ आन्दोलन शुरू किया है। गुरुवार शाम करीब एक दर्जन मनसे कार्यकर्ता बोरीवली पूर्वी के चिकुवाड़ी इलाके में बनी बस्ती में पहुंचे। यहां कई घरों की तलाशी ली। लोगों के आईकार्ड, आधार कार्ड और राशन कार्ड भी चेक किए। इस दौरान स्थानीय पुलिस की टीम भी उनके साथ मौजूद थी।

स्थानीय मनसे नेताओं का दावा है कि इस इलाके में अवैध ढंग से कई बांग्लादेशी रह रहे हैं। मनसे पदाधिकारियों ने चिकूवाड़ी के स्लम इलाके में तलाशी अभियान के साथ यहां रहने वालों को चेतावनी भी दी है कि अगर किसी तरह से बांग्लादेशियों को छिपाने का प्रयास किया गया तो वे अपने स्टाइल में कार्रवाई करेंगे।

मनसे ने पोस्टर लगाकर अवैध बांग्लादेशियों को चेतावनी दी थी
मनसे नेताओं का कहना है कि अगर जरूरत पड़ी तो बांग्लादेशी नागरिकों को मुंबई से भगाने के लिए पुलिस की सहायता भी लेंगे। इससे पहले पुणे में पार्टी की ओर से पोस्टर लगाए गए थे। इनमें लिखा था- 'बांग्लादेशी निकलो वरना मनसे स्टाइल से निकाले जाओगे।' 


पोस्टरों में मनसे ने लिखा था- 'भारत मेरा देश है, मेरा मेरे देश पर प्रेम है। घूसखोरी करने वाले मेरे बंधु नहीं और ना ही वो भारतीय हैं। उन्हें इस देश से निकाल देना चाहिए।' पोस्टर में राज ठाकरे और उनके बेटे अमित ठाकरे की तस्वीरें लगी हैं। अभी कुछ दिन पहले राज ठाकरे ने सीएए के मुद्दे पर मोदी सरकार को सपोर्ट करने का ऐलान किया था।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना