महाराष्ट्र में कोरोना / कर्फ्यू का आज दूसरा दिन, सड़कों से भीड़ गायब, अब तक 122 केस पॉजिटिव, 14 केस नेगेटिव की स्टेज पर

सब्जी वालों ने कोरोना रोकने के लिए कुछ इस तरह का तरीका खोजा है। सब्जी वालों ने कोरोना रोकने के लिए कुछ इस तरह का तरीका खोजा है।
X
सब्जी वालों ने कोरोना रोकने के लिए कुछ इस तरह का तरीका खोजा है।सब्जी वालों ने कोरोना रोकने के लिए कुछ इस तरह का तरीका खोजा है।

  • महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों की संख्या 116 तक पहुंच गई
  • सुबह 9 बजे तक दूध और बेकरी की दुकानों पर भीड़ लगी रही

दैनिक भास्कर

Mar 25, 2020, 06:59 PM IST

मुंबई. कोरोनावायरस के चलते महाराष्ट्र में कर्फ्यू का आज दूसरा दिन है। बुधवार को कुछ अलग हाल नजर आ रहे हैं। आज पुणे-मुंबई में सड़कों पर सन्नाटा पसरा है। हालांकि, अभी भी दूध और बेकरी की दुकानों पर भीड़ लगी है। इस बीच महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 122 तक पहुंच गई है। इसमें 14 से ज्यादा लोग नेगेटिव स्टेज पर हैं। हालांकि, अभी तक इन्हें डिस्चार्ज नहीं किया गया है। बुधवार को सांगली से पांच कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। ये सभी एक ही परिवार से हैं।

स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने ट्वीट कर यह जानकारी साझा की है। 

लोग लगातार तोड़ रहे हैं नियम: मंत्री राजेश टोपे
स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा है कि लोग कर्फ्यू का पूरी तरह पालन करें। कर्फ्यू के बावजूद फल-सब्जियों, राशन और दवाओं की दुकानों में भीड़ देखी जा रही है। कई धार्मिक स्थलों पर लोग जमा हो रहे हैं। लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं। कोई भी इन नियमों को न तोड़े। जरूरी सामान खरीदने के लिए भीड़ न करें। सरकार ऐसे सामान की सप्लाई में कोई कमी नहीं आने देगी। लोग शांति से घरों में रहें। उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टनसिंग बनाए रखने के लिए और किसी तरह की पहल के बारे में वह मुख्यमंत्री से बात करेंगे।

ठीक हो रहे हैं मरीज: टोपे
स्वास्थ्य मंत्री टोपे ने कहा- ‘कोरोना के मरीज ठीक हो रहे हैं। लोगों को कोरोना से घबराने की नहीं, बल्कि सावधानी बरतने की जरूरत है। घर में रहें और बाहर नहीं निकलें। इसी तरीके से इस वायरस को फैलने से रोका जा सकता है।’

पुणे के पहले 2 केस नेगेटिव
2 हफ्ते पहले कोरोना से पॉजिटिव पाए गए पुणे के एक दंपती की रिपोर्ट 2 बार नेगेटिव आई है। दोनों को आज अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी। ये महाराष्ट्र में कोरोना के पहले 2 मामले थे। इनके कारण इनकी बेटी और एक ड्राइवर को भी कोरोना संक्रमण हुआ था। फिलहाल, ये दोनों नायडू हॉस्पिटल में भर्ती हैं।

कई डॉक्टरों ने बंद की डिस्पेंसरी
कोरोनावायरस के चलते मुंबई और महाराष्ट्र में कई डॉक्टरों ने डिस्पेंसरियां बंद कर दी हैं। सरकार ने डॉक्टरों से अपील की है कि वे डिस्पेंसरी कतई बंद न करें। टोपे ने कहा कि डॉक्टर अपनी डिस्पेंसरी बंद नहीं करें, बल्कि और ज्यादा समय के लिए खुली रखें, ताकि लोगों का इलाज होता जारी रहे।

पुणे , मुंबई में उमड़ी किराना और मेडिकल स्टोर पर भीड़
मंगलवार रात 8 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा करते ही पुणे, मुंबई, नागपुर, औरंगाबाद और नासिक समेत पूरे राज्य में सड़कों पर भीड़ जमा होना शुरू हो चुकी है। शहर के लगभग हर किराना स्टोर और मेडिकल स्टोर पर लोग जमा थे। हालांकि, कुछ जगहों पर लोग कतारों में लगे हुए हैं और एक-दूसरे से 1 मीटर की दूरी बनाने का प्रयास कर रहे थे। महाराष्ट्र खाद्य आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल ने कहा है कि वह किसी भी हाल में किराना या मेडिकल की दुकानों को बंद नहीं करेंगे। लोगों को पैनिक होने की कोई जरूरत नहीं है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना