महाराष्ट्र / रामदास आठवले बोले-शिवसेना फंसा रही सरकार बनाने में पेंच, बहुमत नहीं होने पर लागू हो सकता है राष्ट्रपति शासन



रामदास आठवले-फाइल रामदास आठवले-फाइल
X
रामदास आठवले-फाइलरामदास आठवले-फाइल

  • रामदास आठवले रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आठवले) के प्रमुख हैं
  • वे महारष्ट्र में बड़े दलित चेहरे माने जाते हैं 

Dainik Bhaskar

Nov 06, 2019, 04:25 PM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर जारी उठापठक के बीच रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आठवले) के प्रमुख और केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने बुधवार को कहा कि शिवसेना को मुख्यमंत्री पद देने का कोई सवाल नहीं उठता, चाहे उनके बिना ही सरकार बनानी पड़े। उन्होंने कहा कि शिवसेना ने सरकार निर्माण में पेंच फसाया है। अगर हम बहुमत साबित नहीं करते हैं तो राष्ट्रपति शासन लागू हो सकता है।

 

हम फिर से चुनाव में जाने को तैयार
अठावले ने कहा, 'सरकार बनाने के लिए अगर एनसीपी का समर्थन लेना पड़े तो हम साथ लेने को तैयार हैं।' उन्होंने यह भी कहा कि दूसरी पार्टियों के विधायक भी हमको समर्थन देने के लिए तैयार हैं। इसके बावजूद अगर सरकार नहीं बनती तो हम लोग फिर से चुनाव में जाने को भी तैयार हैं।

 

सिर्फ 25 विधायक की है कमी
रामदास अठावले आगे कहा कि सरकार उसी की बनती है जो सिंगल लार्जेस्ट पार्टी होती है, उसको सरकार बनाने का न्योता देने का राज्यपाल का अधिकार होता है। बीजेपी के पास बाकी पार्टियों के विधायकों को मिलाकर संख्या 120 पहुंच रही है।  ऐसे में हमें बहुमत के लिए 25 विधायकों की संख्या कम पड़ रही है।

 

शिवसेना फंसा रही है पेंच
अठावले ने कहा कि शिवसेना ने सीएम पद की मांग करके खामखा सरकार गठन में पेच फंसा रही है। जबकि बीजेपी उन्हें डिप्टी सीएम पद के साथ 16-17 मंत्री पद देने के लिए तैयार है। इसके बावजूद शिवसेना अपनी शर्तों पर अड़ी हुई है।

 

हो सकता है राष्ट्रपति शासन लागू
आरपीआई प्रमुख ने कहा कि अगर हम बहुमत साबित नहीं करते हैं तो राष्ट्रपति शासन लागू हो सकता है। महाराष्ट्र की जनता ने भी कहा है कि शिवसेना बीजेपी सहयोगी मिलकर सरकार बनाएं, लेकिन शिवसेना बार बार मुख्यमंत्री पद की मांग कर रही है।

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना