बयान / संजय निरुपम बोले- शस्त्र पूजा को तमाशा नहीं कहा जा सकता, खड़गे नास्तिक हैं



संजय निरुपम-फाइल संजय निरुपम-फाइल
X
संजय निरुपम-फाइलसंजय निरुपम-फाइल

  • निरुपम ने कहा कि हमारे देश में शस्त्र पूजा की परंपरा पुरानी है
  • टिकट बंटवारे को लेकर संजय निरुपम कांग्रेस आलाकमान से नाराज चल रहे हैं 

Dainik Bhaskar

Oct 09, 2019, 06:21 PM IST

मुंबई. पार्टी से नाराज चल रहे वरिष्ठ कांग्रेस नेता और मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरुपम अब हिंदूवादी विचारधारा को लेकर नरम होते नजर आ रहे हैं। बुधवार को कांग्रेस नेता ने कहा कि शस्त्र पूजा को तमाशा नहीं कहा जा सकता। हमारे देश में शस्त्र पूजा की परंपरा पुरानी है। समस्या यह है कि मल्लिकार्जुन खड़गे जी नास्तिक हैं लेकिन कांग्रेस में हर कोई नास्तिक नहीं है।

 

राफेल की पूजा को खड़गे ने तमाशा कहा था 

दरअसल, देश के लिए पहला राफेल लेने गए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस में दशहरे के मौके पर शस्त्र पूजन किया और राफेल में उड़ान भरी। राजनाथ सिंह के शस्त्र पूजन पर टिप्पणी करते हुए कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने इसे तमाशा करार दिया। खड़गे ने कहा कि ऐसा तमाशा करने की जरूरत नहीं थी। जब हमने (यूपीए) ने बोफोर्स तोप खरीदी थी को हमने इस तरह का दिखावा नहीं किया था। हमारे शासनकाल में कोई भी नेता या मंत्री इसे लाने विदेश नहीं गया था।

 

अमित शाह ने भी साधा निशाना

इस पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने हरियाणा में एक रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर पलटवार किया। उन्होंने कहा, राजनाथ सिंह ने राफेल की शस्त्र पूजा की, लेकिन कांग्रेस देश की इस परंपरा से खुश नहीं हुई। कल विजयादशमी थी, जो बुराई पर अच्छाई की प्रतीक है और यह शस्त्र पूजन करके मनाई जाती है।

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना