अयोध्या फैसला / मुंबई में 50 हजार सुरक्षाकर्मी तैनात, पुणे में स्कूल बंद; नागपुर में संघ मुख्यालय की सुरक्षा बढ़ाई गई



X

  • सोशल मीडिया पर नजर रखने के लिए एक पुलिस ने विशेष टीम गठित की है
  • मुंबई में पुलिस कंट्रोल रूम में सीसीटीवी के जरिए पूरे शहर को मॉनिटर कर रही है

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2019, 01:19 PM IST

मुंबई. सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या विवाद पर अपना फैसला सुना दिया। फैसले के मद्देनजर महाराष्ट्र में मुंबई, पुणे, औरंगाबाद और नासिक में सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की गई। मुंबई में करीब 50,000 पुलिसकर्मी तैनात किए गए। अर्धसैनिक बलों को रिजर्व में रखा गया। पुणे में दोपहर के बाद सभी स्कूल बंद करने का आदेश दिया गया है। 

 

इन सभी जिलों में स्निफर डॉग स्क्वॉड, बम स्कवॉयड और निपटान दस्ते को भी पुलिस ने मुस्तैद कर दिया। सोशल मीडिया पर नजर रखने के लिए एक विशेष टीम बनाई गई। सभी पुलिस वालों की छुट्टियां अगले आदेश तक रद्द कर दी गई हैं।

 

मुंबई पुलिस कंट्रोल रूम के जरिए सीसीटीवी से पूरे शहर की निगरानी की जा रही है। शुक्रवार शाम को पुलिस ने शहर के कई इलाकों में फ्लैग मार्च किया। इस दौरान लोगों से फैसले के बाद शांति बनाने की अपील भी की है।

 

सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा, 'कोर्ट ने जो फैसला दिया है उसे एक लोकतांत्रिक देश होने के नाते सभी को स्वीकार करना चाहिए। देश में शांति और सद्भाव कायम रखना चाहिए।

 

फैसले के मद्देनजर नागपुर में संघ मुख्यालय के बाहर सुरक्षा को बढ़ा दिया गया। सीआईएसएफ और क्यूआरटी की टीम तैनात की गई है। 
 

शिवसेना सांसद संजय राउत का ट्वीट-

मुंबई में 4 से 18 नवंबर तक प्रतिबंधात्मक आदेश रहेगा। संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून एवं व्यवस्था) विनय चौबे ने कहा कि प्रतिबंधात्मक आदेश पहले ही महाराष्ट्र पुलिस अधिनियम के तहत लगाए जा चुके हैं। सुरक्षा बढ़ा दी गई है और संवेदनशील क्षेत्रों में अतिरिक्त सावधानियों के साथ आवश्यक व्यवस्थाएं की गई हैं।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना