पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

शिवसेना ने ‘सामना’ में लिखा- मोदी-ठाकरे भाई-भाई, संघर्ष और लड़ाई जीवन का हिस्सा

9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • महाराष्ट्र में गुरुवार को शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने राज्य के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
  • राज्य में गठबंधन टूटने के बाद भाजपा पर लगातार हमलावर रही शिवसेना
  • अब सामना में लिखा- प्रधानमंत्री पार्टी का नहीं बल्कि पूरे देश का होता है, उनके लिए मन में राग-द्वेष क्यों रखें

मुंबई. उद्धव के महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही भाजपा को लेकर शिवसेना के रुख में बदलाव नजर आया। शुक्रवार को शिवसेना के मुखपत्र सामना में ‘देखते क्या हो? शामिल हो! सुराज्य का उत्सव!!’ शीर्षक से संपादकीय लिखा गया। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उद्धव का बड़ा भाई बताया। यह भी कहा कि संघर्ष और लड़ाई तो जीवन का हिस्सा है। इससे पहले भाजपा से गठबंधन टूटने के बाद से शिवसेना लगातार भाजपा पर हमलावर रही है।

‘छोटे भाई का साथ देने की जिम्मेदारी मोदी की’

  • सामना में लिखा, ‘‘महाराष्ट्र की राजनीति में भाजपा-शिवसेना में अनबन है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उद्धव ठाकरे का रिश्ता भाई-भाई का है। इसलिए महाराष्ट्र के छोटे भाई को प्रधानमंत्री के रूप में साथ देने की जिम्मेदारी मोदी की है।’’
  • ‘‘प्रधानमंत्री पार्टी का नहीं बल्कि पूरे देश का होता है। इसे स्वीकार करें तो जो हमारे विचारों के नहीं हैं, उनके लिए सरकार अपने मन में राग-लोभ क्यों रखे? संघर्ष और लड़ाई हमारे जीवन का हिस्सा है।’’
  • ‘‘दिल्ली देश की राजधानी है, लेकिन महाराष्ट्र दिल्लीश्वरों का गुलाम नहीं। यह तेवर दिखाने वाले बाला साहेब ठाकरे के सुपुत्र आज महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद पर विराजमान हैं। इसलिए महाराष्ट्र का तेवर और सरकार का सीना तना रहेगा।’’
  • ‘‘छत्रपति शिवाजी ने महाराष्ट्र को जो कुछ दिया, उसमें स्वाभिमान महत्वपूर्ण है। महाराष्ट्र दिल्ली को सबसे ज्यादा पैसा देता है। देश की अर्थव्यवस्था मुंबई के भरोसे चल रही है। देश को सबसे ज्यादा रोजगार मुंबई जैसा शहर देता है।’’
  • ‘‘देश की सीमा पर महाराष्ट्र के जवान शहीद हो रहे हैं। देश की सीमा की रक्षा तो महाराष्ट्र की परंपरा रही है। अब महाराष्ट्र से अन्याय नहीं होगा और उसका सम्मान किया जाएगा। इसका ध्यान नए मुख्यमंत्री को रखना होगा।’’

पूर्व सरकार ने पांच लाख करोड़ रुपए का कर्ज लादा
सामना में पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस पर भी निशाना साधा गया- पिछली सरकार पांच साल रही और पांच लाख करोड़ का कर्ज रखा दिया। महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे की सरकार सत्य और न्याय की सारी कसौटियों पर खरी उतरकर स्थिर रहेगी। पांच साल में राज्य पर पांच लाख करोड़ का कर्ज लादकर फडणवीस सरकार चली गई। इसलिए नए मुख्यमंत्री ने जो संकल्प लिया है, उस पर तेजी से, लेकिन सावधानीपूर्वक कदम रखना होगा।

शिवसेना सांसद संजय राउत का ट्वीट

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें