• Hindi News
  • Maharashtra
  • Mumbai
  • Uddhav Thackeray [Updates]: Uddhav Thackeray Maharashtra Vidhan Sabha News Updates: Shiv Sena Cheif, Devendra Fadnavis Hugs Maharashra floor test

महाराष्ट्र / बहुमत ही नहीं, देवेंद्र फडणवीस को गले लगाकर उद्धव ने जीता विधानसभा में मौजूद लोगों का दिल

Uddhav Thackeray [Updates]: Uddhav Thackeray Maharashtra Vidhan Sabha News Updates: Shiv Sena Cheif, Devendra Fadnavis Hugs Maharashra floor test
X
Uddhav Thackeray [Updates]: Uddhav Thackeray Maharashtra Vidhan Sabha News Updates: Shiv Sena Cheif, Devendra Fadnavis Hugs Maharashra floor test

  • उद्धव ने जैसे ही पूर्व मुख्यमंत्री को गले लगाया, वहां मौजूद लोगों ने तालियां बजाकर खुशी जाहिर की
  • कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने उद्धव ठाकरे की सरकार का विश्वास प्रस्ताव रखा
  • इस प्रस्ताव का एनसीपी के नवाब मलिक और शिवसेना के सुनील प्रभु ने अनुमोदन किया

Dainik Bhaskar

Nov 30, 2019, 07:49 PM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार 169 विधायकों के समर्थन के साथ विधानसभा में बहुमत साबित किया। इस दौरान जहां एक ओर शपथ ग्रहण सही ढंग से नहीं करने का और विधानसभा में वंदेमातरम् नहीं गाने का आरोप लगाते हुए भाजपा ने वॉकआउट कर दिया, वहीं दूसरी ओर सदन में एक बेहद खुशगवार नजारा देखने को भी मिला। शपथ ग्रहण से पहले जब पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस बोल रहे थे, इसी दौरान उद्धव ठाकरे उनके पास आए और उन्हें अपने गले से लगा लिया। यह नजारा देख दोनों पक्षों के लोगों ने जमकर तालियां बजाई। इसके बाद उद्धव अपनी मेज पर जाकर बैठ गए।

महाराष्ट्र विधानसभा में फ्लोर टेस्ट के दौरान भाजपा के विधायकों ने वॉकआउट कर दिया था, इसलिए सरकार के खिलाफ एक भी वोट नहीं पड़ा। कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने उद्धव ठाकरे की सरकार का विश्वास प्रस्ताव रखा। इस प्रस्ताव का एनसीपी के नवाब मलिक और शिवसेना के सुनील प्रभु ने अनुमोदन किया। फ्लोर टेस्ट के दौरान सभी विधायकों की राय जानी गई और उनकी गिनती भी हुई।

शपथ ग्रहण में महापुरुषों का नाम लेने क्या बुराई: उद्धव

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने विश्वास मत के बाद कहा- ''सदन का आभार व्यक्त करता हूं। मैं पहली बार सदन में आया हूं। शपथ ग्रहण में अपने माता-पिता और महापुरुषों का नाम लेने में क्या बुराई है। अगर यह गुनाह है तो मैं इसे बार-बार करूंगा। शिवाजी हमारे भगवान हैं। मैं सामने से लड़ने वालों में से हूं। मतभेद होते हैं लेकिन यहां पर गलत ढंग से मतभेद को रखने की कोशिश हुई। मुझे उस महाराष्ट्र की जरूरत है जो साधु-संतों का है, वीरों का है, महापुरुषों का है।''

DBApp
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना