--Advertisement--

वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज पर चलेगी दिवालिया कार्रवाई, कंपनी पर कुल 44 हजार करोड़ का कर्ज

वीडियोकॉन का नाम रिजर्व बैंक की उस दूसरी सूची में है, जिसमें कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए गए थे।

Danik Bhaskar | Jun 08, 2018, 08:13 AM IST
कंपनी ने कुछ एसेट बेचकर बैंक कर्ज चुकाने की कोशिश की, लेकिन इसमें उसे खास कामयाबी नहीं मिली। कंपनी ने कुछ एसेट बेचकर बैंक कर्ज चुकाने की कोशिश की, लेकिन इसमें उसे खास कामयाबी नहीं मिली।

  • वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज के चयेरमैन वेणुगोपाल धूत के खिलाफ सीबीआई भी जांच चल रही है
  • वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज ऑयल बिजनेस में घाटे के कारण संकट में आई थी

मुंबई. वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज के खिलाफ दिवालिया कार्रवाई चलेगी। नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल की मुंबई बेंच ने बुधवार को इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड के तहत कंपनी के खिलाफ आवेदन स्वीकार कर लिया। एसबीआई ने कंपनी के खिलाफ जनवरी में दिवालिया याचिका दायर की थी। वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज को 27 बैंकों ने कर्ज दे रखा है। कंपनी की सालाना रिपोर्ट के मुताबिक मार्च 2017 में इस पर बैंकों का 19,506 करोड़ रुपए बकाया था। ग्रुप की सभी कंपनियों पर कुल करीब 44,000 करोड़ रुपए का कर्ज है।

कंपनी ने कुछ एसेट बेचकर बैंक कर्ज चुकाने की कोशिश रही नाकाम

- वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज ऑयल बिजनेस में घाटे के कारण संकट में आई थी। कंपनी ने कुछ एसेट बेचकर बैंक कर्ज चुकाने की कोशिश की, लेकिन इसमें उसे खास कामयाबी नहीं मिली। बैंक 2016 से विभिन्न स्कीमों के तहत समाधान की कोशिश कर रहे थे।

- नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल की मुंबई बेंच ने केपीएमजी के अनुज जैन को अंतरिम रिजॉल्यूशन प्रोफेशनल नियुक्त करने पर भी मंजूरी दे दी है। दिवालिया प्रक्रिया उन्हीं की देखरेख में होगी। वीडियोकॉन का नाम रिजर्व बैंक की उस दूसरी सूची में है, जिसमें कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए गए थे।

दिवालिया याचिका को चुनौती नहीं देगी वीडियोकॉन

चेयरमैन वेणुगोपाल धूत ने कहा कि कंपनी दिवालिया याचिका को चुनौती नहीं देगी। उन्होंने बताया कि कुछ बैंक उनके प्रस्ताव पर राजी हैं। इसके तहत ऑयल बिजनेस से जो भी पैसे आएंगे, वे बैंकों को मिलेंगे। उम्मीद है कि कुछ बैंक दिवालिया कार्रवाई से बाहर हो जाएंगे, क्योंकि उन्हें हम पूरे पैसे लौटाएंगे। उन्होंने कहा कि ज्यादातर बैंक एनसीएलटी में जाने के खिलाफ हैं।

चेयरमैन धूत के खिलाफ चल रही है सीबीआई जांच

वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज के चैयरमैन वेणुगोपाल धूत के खिलाफ सीबीआई भी जांच चल रही है। यह आईसीआईसीआई बैंक की एमडी चंदा कोचर के पति दीपक कोचर से जुड़ा है। आरोप है कि धूत ने दीपक कोचर की कंपनी में पैसे लगाए। इसके बाद आईसीआईसीआई बैंक ने कंपनी को कर्ज दिया था। मार्केट रेगुलेटर सेबी भी चंदा कोचर के खिलाफ हितों के टकराव की जांच कर रहा है।

एक साल में सिर्फ दो कंपनियों पर हुआ है फैसला

रिजर्व बैंक ने पिछले साल जून में 12 और अगस्त में 28 कंपनियों की सूची बैंकों को भेजी थी। आरबीआई का निर्देश था कि तय समय में इनके एनपीए का समाधान नहीं हुआ तो इनके खिलाफ दिवालिया कार्रवाई शुरू की जाए।

अभी तक दो मामले सुलझे

भूषण स्टील: इस पर 56,000 करोड़ रुपए का कर्ज था। टाटा स्टील ने 35,200 करोड़ रु. में इसे खरीदा।

इलेक्ट्रोस्टील स्टील्स: इस पर 7,400 करोड़ का कर्ज था। वेदांता समूह की कंपनी वेदांता स्टार ने 5,320 करोड़ में खरीदा।

चेयरमैन वेणुगोपाल धूत ने कहा कि कंपनी दिवालिया याचिका को चुनौती नहीं देगी।   - फाइल चेयरमैन वेणुगोपाल धूत ने कहा कि कंपनी दिवालिया याचिका को चुनौती नहीं देगी। - फाइल