--Advertisement--

लाइनमैन 17,500 की घूस लेते अरेस्ट, दोबारा काम ने करने की देता था धमकी

भ्रष्टाचार प्रतिबंधक विभाग के जाल में नगर पंचायत का लाइनमैन फंस गया।

Dainik Bhaskar

Dec 30, 2017, 07:01 AM IST
सिम्बॉलिक इमेज। सिम्बॉलिक इमेज।

नागपुर. भ्रष्टाचार प्रतिबंधक विभाग के जाल में नगर पंचायत का लाइनमैन फंस गया। शुक्रवार को ठेकेदार से रिश्वत लेते हुए उसे रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया। आरोपी ने रिश्वत अकाउंटेंट के कहने पर ली थी। मानकापुर थाने में प्रकरण दर्ज किया गया है।

दोबारा काम नहीं देने की धमकी भी दी थी

शिकायतकर्ता ठेकेदार को वर्ष 2016 में कामठी तहसील अंतर्गत महादुला नगर पंचायत कार्यालय के रजिस्टर, फार्म, बिल बुक छापने का ठेका मिला था। इस काम का 1 लाख 34 हजार 400 रुपए का बिल बकाया था। बिल का भुगतान चेक द्वारा किया गया था। हालांकि चेक संबंधित अकाउटेंट ने निकाला था। लिहाजा अकाउटेंट ने अपने अधिनस्थ काम करने वाले लाइनमैन बाल्या रामकृष्ण गवली (38) के जरिए ठेकेदार से बिल निकालने के बदले में 10 प्रतिशत कमिशन के तौर पर 17,500 रुपए के रिश्वत की मांग की थी। रिश्वत की रकम देने के लिए ठेकेदार पर बाल्या की मदद से दबाव भी बनाया जा रहा था। रिश्वत नहीं मिलने पर दोबारा काम नहीं देने की धमकी भी दी थी।

त्रस्त होकर की शिकायत
पैसे की मांग से त्रस्त होकर ठेकेदार ने भ्रष्टाचार प्रतिबंधक से शिकायत की थी। जांच के दौरान रिश्वत मांगने की पुष्टि हुई। शुक्रवार को भ्रष्टाचार प्रतिबंधक विभाग ने जाल बिछाया। बाल्या को रिश्वत की रकम 17,500 रुपए स्वीकार करते हुए रंगे हाथों दबोचा। मानकापुर थाने में प्रकरण दर्ज कर बाल्या को गिरफ्तार भी किया गया है। संबंधित अकाउंटेंट के बारे में जांच जारी है।

X
सिम्बॉलिक इमेज।सिम्बॉलिक इमेज।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..